Why twin tower noida demolition : आखिर क्यों करोड़ों की सम्पत्ति को पलभर में प्रशासन ने धराशायी कर दिया?

Why twin tower noida demolition : आखिर क्यों करोड़ों की सम्पत्ति को पलभर में प्रशासन ने धराशायी कर दिया?

Why twin tower noida demolition : नोएड के सेक्टर 93-ए में बने सुपरटेक के ट्विन टॉवर को आज धाराशायी कर दिया। इस कार्रवाई को अंजाम देने के लिए प्रशासन लम्बे समय से काम कर रहा था। रविवार को इस टॉवर को गिराने की तिथि निर्धारित की गई थी। प्रशासन द्वारा तमाम सुरक्षा-व्यवस्था को दुरूस्त करने के बाद आज इस टॉवर को 2.30 बजे धाराशायी कर दिया गया।

Why twin tower noida demolition

क्यो गिराया गया ट्विन टॉवर

नोएडा के सेक्टर 93-ए में सुपरटेक ट्विन टॉवर का निर्माण साल 2009 में किया गया। जिसमें करीब 1000 फ्लैट्स बनाए जाने थे। लेकिन बाद में इसमें बदलाव कर दिया। 633 लोगों ने इस टॉवर में फ्लैट्स बुक कराए थे। जिनमें से 248 रिफंड ले लिए थे। जबकि 133 दूसरे प्रोजेक्ट में शिफ्ट हो गए थे। बेचे 252 जिन्होंने निवेश कर रखा था वह कोर्ट चले गए। कोर्ट ने पूरे मामले की सुनवाई के दौरान इस प्रोजेक्ट को अवैध करार दिया दे दिया और नोएडा प्राधिकरण को फटकार लगाते हुए इसे गिराने का आदेश दे दिया।

Why twin tower noida demolition : आखिर क्यों करोड़ों की सम्पत्ति को पलभर में प्रशासन ने धराशायी कर दिया?

जिस पर सुपरेट कंपनी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की। यहां हुई सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने भी इस बिल्डिंग को गिराने का आदेश दे दिया। रिपोर्ट की माने तो सुप्रीम कोर्ट ने 31 अगस्त 2021 को एक आदेश जारी करके कहा कि तीन महीने के भीतर इस बिल्डिंग को गिराया जाएं। लेकिन बाद में यह तारीख बढ़ाकर 28 अगस्त 2022 कर दी गई।

Why twin tower noida demolition

ट्विन टॉवर से जुड़ी अहम बातें

Why twin tower noida demolition : रिपोर्ट की माने तो ट्विन टॉवर को गिराने में करीब 17.55 करोड़ खर्च आएगा। जिसे बिल्डर्स से वसूला जाएगा। इस टॉवर को तैयार करने में बिल्डर्स ने करीब 200 से लेकर 300 करोड़ रूपए खर्च किए थे। ट्विन टॉवर को गिराने का काम मुम्बई की एडिफिस इंजीनियरिंग कंपनी को सौंपा गया है। टॉवर गिरने से किसी भी प्रकार की जनहानि न हो इसके लिए लोगों को वहां से दूसरी जगह शिफ्ट किया गया था। कई लोग अपने रिश्तेदारों के यहां चले गए तो कई लोग टूर पर निकले गए हैं। एक रिपोर्ट की माने तो तकरीबन 5000 हजार लोगों को दूर किया गया है।

Why twin tower noida demolition : आखिर क्यों करोड़ों की सम्पत्ति को पलभर में प्रशासन ने धराशायी कर दिया?

Why twin tower noida demolition : रिपोर्ट की माने तो ट्विन टॉवर ध्वस्त होने से आसपास की कई बिल्डगों में कुछ दिक्कतें हैं। जैसे कई घरों के कांच टूट हैं तो कई में हल्की-फुल्की दरारें भी आई हैं।

Also Read- KBC की हॉटसीट पर बैठी यह कंटेस्टेंट पहुंची एक करोड़ के सवाल पर, बोली पति को नहीं दूंगी कुछ, क्योंकि वो मुझे..

Also Read- महेश भट्ट की शक्ल देखना पसंद नहीं करती Katrina Kaif, जाने दोनों के बीच आई दरार की वजह

Leave a Reply

Your email address will not be published.