WhatsApp ने हजार नहीं बल्कि लाखों यूजरों को दिया जोर का झटका, पूरा मामला जान दांतों तले दबा लेंगे उंगलियां

WhatsApp ने हजार नहीं बल्कि लाखों यूजरों को दिया जोर का झटका, पूरा मामला जान दांतों तले दबा लेंगे उंगलियां

WhatsApp एक पॉपुलर सोशल मैसेजिंग एप है। जिसे दुनियाभर में लोग एक बड़ी तादाद में इस्तेमाल करते हैं। इस सोशल मैसेजिंग एप का इंटरफेस बेहद सरल डिजाइन किया गया है। जिससे आम उपभोक्ता आसानी से इस्तेमाल कर पाएं। समय की मांग के अनुसार वॉट्सएप अपने फीचर्स में बदलाव करता रहता है। जिसकी जानकारी मैसेजिंग एप द्वारा सोशल मीडिया में साझा की जाती है। अब वॉट्सएप ने हाल ही में यूजरों के लिए कुछ ऐसा एक्शन उठा लिया है जिसे सुनकर आपको जोर का झटका लग सकता हैं। पूरा मामला क्या है चलिए जानते हैं।

दरअसल WhatsApp ने बीते फरवरी माह में कुछ यूजरों पर सख्त एक्शन लिया। एक्शन यह था कि सोशल मैसेजिंग एप ने 14.26 लाख अकाउंट्स को बैन कर दिया। सोशल मैसेजिंग एप ने यह सख्त कदम यूजर्स की ओर से की गई ग्रिवेंस चैनल पर शिकायत के बाद लिया गया है। जिसकी जानकारी वॉट्सएप द्वारा मासिक रिपोर्ट जारी करके दी गई।
वॉट्सएप ने साफ किया कि उसे 335 शिकायतें मिलीं थी। जिसमें से 1 फरवरी से 21 फरवरी के दरम्यान 21 अकाउंट्स पर एक्शन लिया गया। टोटल 194 मिली शिकायतों में बैन करने की अपील की गई थी। इसके अलावा अन्य शिकायतें सपोर्ट, प्रोडक्ट सपोर्ट और सेफ्टी को लेकर मिली थीं।

WhatsApp ने हजार नहीं बल्कि लाखों यूजरों को दिया जोर का झटका, पूरा मामला जान दांतों तले दबा लेंगे उंगलियां

सभी शिकायतों पर पैनी नजर

WhatsApp कहता है कि यूजर्स द्वारा भेजी गई सभी शिकायतों पर वह पैनी नजर रखता है। इस दरम्यान उन शिकायतों को थोड़ा अनदेखा किया जाता है जो डुप्लीकेट होती है, फेक होती हैं व दो बार शिकायतें भेजी जाती है। वॉट्सएप ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि उसने फरवरी महीने में करीब 14.26 लाख खाता को प्रतिबंधित किया है। यह प्लेटफार्म भारतीय नम्बरों की पहचान $91 फोन नम्बर से करता है।

WhatsApp के एक अधिकारी ने ईमेल के जरिए साफ किया कि वह यूजर की सुरक्षा, रिपोर्ट यूजर की शिकायतों व एकाउंट्स पर की गई कार्रवाई को वह सार्वजनिक करता है। जिसमें सभी तरह के कदम शमिल है। यह पूर कदम प्लेटफार्म पर किसी भी तरह किए गए अभद्र व्यवहार को रोकने के लिए उठाया जाता हैं। फरवरी माह में इसी तरह की प्राप्त शिकायतों के आधार पर कुल 14 लाख से ज्यादा खाते प्रबतिबंधित किए गए।

WhatsApp का दावा है कि पिछले कुछ सालों से ऐसी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए वह कई आर्टिफिशियल इंटीलीजेंस में निवेश किया है। इसके अलावा कई नई तकनीक का भी सहारा लिया है। ऐसी डाटा साइंटिस्ट व एक्सपर्ट को अपना हिस्सा बनाया ताकि वह यूजर्स को सुरक्षित प्लेटफार्म तैयार करके दे सके।

Also Read- अब Cryptocurrency पर देना होगा इस परसेंट का टैक्स, जाने क्या है पूरे नियम

Also Read- एक लाख से अधिक वर्चुअल प्लॉट्स की नीलामी करेगा Shiba Inu का Metaverse

Leave a Reply

Your email address will not be published.