hindinews11.com

रीवा के नवाडीह गांव के कुएं में गिरा भालू, वन विभाग टीम ने रेस्क्यू कर निकाला – Rewa news

Rewa news : रीवा जिले के नवाडीह गांव में रविवार सुबह लोग उस वक्त हैरान रह गए, जब उन्होंने कुएं में एक भालू गिरा देखा. ये भालू रात में गांव में आया था और कुएं में गिर गया. लोगों ने पहले तो खुद उसे कुएं से निकालने की कोशिश की, लेकिन जब सफल नहीं हुए तो वन विभाग को बुला लिया. वन विभाग की टीम ने भालू को रेस्क्यू किया और उसे लेकर मुकुंदपुर के जंगल चली गई. इस गांव में जंगली जानवरों का दिखना आम बात है.

रीवा जिले के नवाडीह गांव में एक भालू कुएं में गिर गया. उसे गिरा देख स्थानीय लोगों ने पुलिस सहित वन विभाग को सूचना दी. सूचना मिलते ही टीमें मौके पर पहुंचीं और भालू को रेस्क्यू किया. गांव वालों ने बताया कि यह भालू रात को कुएं के पास गुजरा होगा,लेकिन दिखाई न देने की वजह से उसमें गिर गया. सुबह लोगों ने खुद उसे निकालने की कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली. अब वन विभाग की टीम उसे जंगल में छोड़ेगी. यह घटना बैकुंठपुर थाना इलाके की है.

रीवा के नवाडीह गांव के कुएं में गिरा भालू, वन विभाग टीम ने रेस्क्यू कर निकाला - Rewa news

स्थानीय लोगों ने बताया कि कुछ लोग रविवार को सुबह-सुबह कुएं के पास से गुजरे तो उन्हें वहां से अजीबो-गरीब आवाज आई. लोगों ने झांककर देखा तो भालू कराह रहा था. इसके बाद लोगों ने दूसरों को भी मौके पर बुला लिया. देखते ही देखते लोगों का हुजूम कुएं में गिरे भालू को देखने चला आया. इसके बाद लोगों ने आपस में सलाह करके भालू को निकालने की व्यवस्था की. कोई मोटी रस्सी ले आया तो कोई सीढ़ी ले आया. लेकिन, काफी देर कोशिश करने के बाद भी भालू को कुएं से निकालने में कोई सफलता नहीं मिली.

इसके बाद कुछ लोगों ने वन विभाग को इसकी सूचना दी. सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और रस्सी से झूले नुमा चीज बनाई. उन्हें भालू को ट्रांक्यूलाइज किया और सीढ़ियों के सहारे कुएं में नीचे उतर गए. वन विभाग के कर्मचारियों ने भालू को उसमें रख ऊपर खींच लिया. इसके बाद भालू को जाल से निकालकर पिंजरे में डाल दिया गया. कुएं से बाहर निकालने के बाद वन विभाग का अमला भालू को लेकर मुकुंदपुर के जंगल चल गया.

अक्सर दिखाई देते हैं जानवर

स्थानीय लोगों ने बताया कि बैकुंठपुर थाना क्षेत्र के कई गांवों में जंगली जानवर अक्सर दिखाई देते हैं. जब भी जानवर आते हैं गांववाले एक-दूसरे को सावधान करते हैं. उस पर नजर रखते हैं. शनिवार-रविवार देर रात भी किसी ने भालू को गांव में आते देख लिया था, लेकिन इसकी सूचना नहीं दी. इस दौरान अंधेरे में भालू को भी नहीं दिखाई दिया और वह कुएं में गिर गया. इसके बाद जब सुबह हुई तो धीरे-धीरे लोगों को भालू की कुएं में गिरने की जानकरी मिली.

Also Read- Ac Price Bumper Discount : 75000 हजार की एसी 35000 में लेने का आखिरी मौका, जाने ऑफर

Also Read- सिर्फ 11 हजार रूपए में खरीदे 2022 मॉडल होण्डा एक्टिवां, जाने तरीका

Leave a Comment