Rewa Trending News : रेप के आरोपी सीताराम दास को संरक्षण देने के आरोप में संजय त्रिपाठी व भांजा अंशुल त्रिपाठी गिरफ्तार

Rewa Trending News : रेप के आरोपी सीताराम दास को संरक्षण देने के आरोप में संजय त्रिपाठी व भांजा अंशुल त्रिपाठी गिरफ्तार

Rewa Trending News : गत दिनों रीवा के सर्किट हाउस से रेप की घटना सामने आने के बाद प्रशासन अब पूरी तरह से सख्त है। इस घटना से जुड़े तमाम लोगों पर प्रशासन कड़ी कार्रवाई कर रहा है। अब खबर है कि रेप के आरोपी महंत सीताराम दास को संरक्षण देने व उसे भगाने के आरोप में ब्राम्हण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय त्रिपाठी व उनके भांजे अंशुल त्रिपाठी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। अंशुल मिश्रा ब्राम्हण महासभा संगठन में बतौर प्रदेश संयोजक के तौर पर कार्य करते हैं।

Rewa Trending News : रेप के आरोपी सीताराम दास को संरक्षण देने के आरोप में संजय त्रिपाठी व भांजा अंशुल त्रिपाठी गिरफ्तार

ये है आरोप

ब्राम्हण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय त्रिपाठी पर आरोप है कि रेप के आरोपी महंत सीताराम दास घटना को घटना के बाद उन्होंने रातभर के लिए अपने घर में संरक्षण दिया था। जबकि भांजे अशंुल मिश्रा सुबह अपनी फॉच्यूर्नर कार से आरोपी को भागने में मदद की थी। इसके अलावा अंशुल पर यह भी आरोप लगाया जा रहा है कि सर्किट हाउस में महंत को कमरा उन्हीं के द्वारा बुक कराया गया था। इन तमाम आरोपों के बीच सिविल लाइन पुलिस ने दोनों लोगों को गिरफ्तार करके न्यायालय में पेश किया। खबरों की माने तो न्यायालय ने उन्हें जेल भेज दिया है।

रिपोर्ट की माने तो संजय त्रिपाठी व अंशुल मिश्रा पर यह आरोप उस समय लगा जब पुलिस ने महंत से पूरे मामले में कड़ी पूछताछ की। इस दौरान आरोपी मंहत ने पूरे घटनाक्रम से पर्दा उठाया। जिस पर पुलिस ने सख्ती बरतते हुए संजय त्रिपाठी व अंशुल मिश्रा को गिरफ्तार किया है।

घर पर बुल्डोजर चलाने की तैयारी

खबरों की माने तो प्रशासन संजय त्रिपाठी के पड़रा स्थित घर पर बुल्डोजर चलाने की भी तैयारी में हैं। जिसके लिए प्रशासन द्वारा घर का निरीक्षण भी किया जा चुका हैं।

Rewa Trending News : रेप के आरोपी सीताराम दास को संरक्षण देने के आरोप में संजय त्रिपाठी व भांजा अंशुल त्रिपाठी गिरफ्तार

खुद को बेकसूर बता रहे संजय

ब्राम्हण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय त्रिपाठी का एक वीडियो तेजी से वायरल हुआ। जिसमें श्री त्रिपाठी ने पूरे मामले से खुद को दूर होना बताया। संजय त्रिपाठी कहते है कि वह ब्राम्हण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष है। वह ब्राम्हण हितैषी कार्य करते हैं। उनका कई संतों से मेल-मिलाप है। कई संत उनके गुरू हैं। जिनका वह आदर व सम्मान करते हैं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि वह कोई अपराध करें और उनका नाम मुझसे जोड़ा जाए। मैं ऐसे अपराधियों का विरोध करता हूं, और प्रशासन से मांग करता हूं कि इन्हें कड़ी से कड़ी सजा दी जाएं। लेकिन इस पूरे मामले में मेरा नाम जोड़ा जा रहा है जो पूरी तरह से गलत हैं। मुझे इसमें फंसाया जा रहा है।

Also Read- आखिर कौन और कहां का रहने वाला है दुष्कर्म का आरोपी Mahant Sitaram Das

Also Read- Rewa Railway News: रीवा से बिलासपुर जाने वाली ट्रेन रद्द, 3 मई तक रहेगी निरस्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.