Rewa : बहसी दरिंदा बना चाचा, 7 साल व 15 माह की भतीजी के साथ की दरिंदगी, भाभी को भी नहीं छोड़ा…

Rewa : बहसी दरिंदा बना चाचा, 7 साल व 15 माह की भतीजी के साथ की दरिंदगी, भाभी को भी नहीं छोड़ा…

Rewa : बहसी दरिंदा बना चाचा, 7 साल व 15 माह की भतीजी के साथ की दरिंदगी, भाभी को भी नहीं छोड़ा…

Rewa : रीवा। चाचा को रिश्ते में पिता समान माना गया है। जब वह ही हैवानियत पर उतर आए तो उसे आप बहसी दरिंदा ही कहेंगे। क्योंकि चाचा जैसे पवित्र रिश्ते को कलंकित करने वाला इंसान तो ही नहीं सकता हैं। चाचा ने अपनी दो मासूम भतीजियों के साथ जो दरिंदगी की है, उसे सुनकर अब हर रिश्ते से लोगों का विश्वास उठ जाएगा।

ताजा मामला रीवा जिले के लौर थाना क्षेत्र से सामने आ रहा है। जहां एक 22 वर्षीय चाचा ने 46 दिन पहले अपनी 7 साल की भतीजी के साथ सबसे पहले दरिंदगी की। दूसरी बार उसने 15 माह की दुधमुंही बच्ची को अपना शिकार बनाया।
जिले के लौर थाना क्षेत्र अंतर्गत दो मासूम बहनों के साथ दरिंदगी का मामला सामने आया है। मासूम बहनों के साथ दरिंदगी करने वाला शख्स कोई और नहीं बल्कि उसका सगा चाचा है। लौर थाना प्रभारी ने मीडिया को बताया कि आरोपी प्रमोद चतुर्वेदी 22 वर्ष 16 अक्टूबर को 7 वर्षीय भतीजी के साथ दरिंदगी की।

जब रोते हुए मासूम मां के पास पहुंची तो मां ने उसके रोने का कारण पूछा। फिर उसने जो कहानी बताई उससे वह हतप्रभ रह गई। मां उसी समय थाने जाकर रिपोर्ट दर्ज कराने को तैयार थी। लेकिन परिजनों ने बदनामी का हवाला देकर महिला को थाने जाने से रोक दिया। दूसरी तरफ परिजनों ने आरोपी को बुलाकर डांट-फटकार लगार्इ्र और दोबारा ऐसा कृत्य न करने की हिदायत दी। लगभग महीने भर से ज्यादा समय तक आरोपी शांत रहा।

15 माह की मासूम के साथ दो दिन तक किया दुष्कर्म

कहते है कि आरोपी को यदि उसके किए की सजा न मिले तो उसके हौसले बुलंद हो जाते हैं। वह यह सोचने लगता है कि कुछ नहीं होगा। उसके मन से हर प्रकार का डर, भय समाप्त हो जाता है। ठीक ऐसा ही हाल प्रमोद चतुर्वेदी का भी था। पहली वारदात को अंजाम देने के बाद जब उसका कुछ नहीं हुआ तो वह अपनी मनमानी पर उतर आया, और दूसरी बार अपनी 15 माह की दुधमुंही मासूम को शिकार बनाया।

पुलिस ने बताया कि आरोपी चाचा ने बीते गुरूवार व शुक्रवार दो दिन 15 माह की मासूम को अपनी दरिंदगी का शिकार बनाया। जब इस बात की जानकारी मां को हुई तो उसने फोन पर इसकी जानकारी अपने पति को दी। पति भोपाल में किसी निजी कंपनी में कार्यरत है। महिला द्वारा पति को जानकारी दिए जाने की बात जैसे ही आरोपी चाचा को लग गई। वह भाभी के पास जा पहुंचा और उसके साथ गाली-गलौज करते हुए उसे मार-मारकर अधमरा कर दिया।

पीड़िता इस बार किसी की एक न सुनी और सीधे थाने पहुंची। जहां उसने पुलिस को अपनी व बेटियों के साथ हुई ज्यादती की कहानी बयां की। लौर थाना प्रभारी ने पूरे मामले से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर 15 माह की मासूम को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया। दूसरी ओर आरोपी चाचा के खिलाफ दुष्कृत्य के अलावा पास्को एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार करके न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे न्यायालय ने जेल भेज दिया।

Also Read- MP Rewa News : तेज रफ्तार ट्रक ने बरपाया गहर, 4 बसों के उड़ाए परखच्चे, बाल बाल बचे लोग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *