Rewa : गुलाब की खेती से किसान कर रहे हैं साल की साढ़े 7 लाख की कमाई, फूलों की खेती ने बदल दी जिंदगी

Rewa : गुलाब की खेती से किसान कर रहे हैं साल की साढ़े 7 लाख की कमाई, फूलों की खेती ने बदल दी जिंदगी

Rewa Gulab flower farming story : परम्परागत खेती छोड़ रीवा जिले के एक किसान ने फूलों की खेती शुरू की और पहले ही साल उन्होंने 7 लाख 50 हजार की शानदार कमाई की।

Rewa Gulab flower farming story : परम्परागत खेती के साथ ही नगदी फसल की खेती करके तगड़ा मुनाफा कमाया जा सकता है। यह काम देश के कई किसान कर भी रहे हैं। आज हम रीवा के एक ऐसे ही किसान की स्टोरी आपको बताने जा रहे हैं। जिन्होंने फूलों की खेती शुरू करके महीने के 65 से 70 हजार रूपए की कमाई कर रहे है। तो वहीं साल में वह साढ़े 7 लाख रूपए की कमाई कर रहे है।

कौन हैं किसान

Rewa Gulab flower farming story : मीडिया रिपोर्ट की माने तो फूलों में गुलाब की खेती करने वाले किसान कोई और नहीं बल्कि रीवा जिले रायपुरकर्चुलियान विकासखण्ड अंतर्गत आने वाले गांव सिरखिनी निवासी व्याघ्रदेव सिंह हैं। जो फूलों की खेती करके महीने के 65 हजार रूपए बना रहे है।

दो हजार वर्गमीटर में कर रहे खेती

Rewa Gulab flower farming story : रिपोर्ट की माने तो व्याघ्रदेव सिंह 2 हजार वर्गमीटर पाली हाउस में गुलाब के फूलों की खेती कर रहे है। अपनी सफलता की जानकारी देते हुए व्याघ्रदेव सिंह ने मीडिया को बताया कि वह वर्षो से परम्परागत खेती करते आ रहे थे। लेकिन मौसम की वजह से उन्हें इस खेती से नाम मात्र का ही लाभ होता था। जिस वजह से परिवार की जीविका चलाना मुश्किल हो रहा था। लिहाजा उन्होंने नगदी फसल की खेती करने की ठानी और एक दिन जिले में स्थिति उद्यागिनी विभाग जा पहुंचे। जहां उन्होंने अधिकारियों से जानकारी ली और विभाग से प्रशिक्षण प्राप्त किया।

2016 में शुरू की खेती

Rewa Gulab flower farming story : व्याघ्रदेव सिंह बताते हैं कि मैंने विभाग से प्रशिक्षण प्राप्त करके वर्ष 2016 में अपनी जमीन पर दो हजार वर्गमीटर के पॉली हाउस का निर्माण कराया। मुझे विभाग की ओर से गुलाबों की खेती का प्रशिक्षण दिया गया। मैंने जुलाई 2016 से गुलाब की खेती शुरू की। खेती के पहले साल में ही मैंने 7 लाख 50 हजार रुपए के गुलाब बेंचे। अब मुझे गुलाबों से हर माह लगभग 65 हजार रुपए की आमदनी हो रही है। इसकी आय से मैंने शेष बची जमीन को बेहतर करके उसमें खेती को आधुनिक बनाया है। गुलाब की खेती ने मेरा जीवन बदल दिया है।

Also Read- CRPF Recruitment 2023 : ASI व हेड कांस्टेबल पदों को भरने निकली भर्ती, इस तिथि से पहले कर लें आवेदन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *