Income Tax की निगरानी में 700 से ज्यादा Cryptocurrency एकाउण्ट, गिर सकती है जुर्माने की गाज

Income Tax की निगरानी में 700 से ज्यादा Cryptocurrency एकाउण्ट, गिर सकती है जुर्माने की गाज

हाई वैल्यूम वाले करीब 700 क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) एकाउंट आयकर विभाग (Income Tax) की नजर में हैं। जिन्हें आयकर विभाग नोटिस थमाने की कार्रवाई जल्द कर सकती है। इन 700 क्रिप्टो एकाउंट को 30 फीसदी टैक्स, जुर्माना व ब्याज जैसी चीजों का सामना करना पड़ सकता है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने ज्यादातर उन क्रिप्टों खातों पर नजर बनाए हुए हैं जिन्होंने टैक्स रिटर्न में क्रिप्टो गुड प्वॉइंट्स को छोड़ दिया है।

टैक्स न पे करने वाले सबसे ज्यादा

रिपोर्ट की माने तो क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) में ऐसे ढेर सारे लोग है जो टैक्स का भुगतान नहीं कर रहे हैं। ऐसे में आयकर विभाग ने 700 से ज्यादा लोगों को शार्टलिस्ट किया है, जिनकी टैक्स लायबिलिटी बहुत ज्यादा है। इन 700 लोगों में स्टूडेंट, गृहणियां भी शामिल हैं।

Income Tax की निगरानी में 700 से ज्यादा Cryptocurrency एकाउण्ट, गिर सकती है जुर्माने की गाज

इन सबके अलावा इस लिस्ट में हाई नेटवर्थ वाले लोग भी शामिल है। जिनकी टैक्स के मामले में फिसड्डी हैं। आयकर की नजर में कुछ एनआरआई भी है जिन्होंने कभी भी टैक्स दाखिल नहीं किया। ऐसे में अब आयकर विभाग यह एनलाइज कर रहा है कि ये कभी टैक्स से बचने के लिए किसी अन्य के नाम का तो उपयोग नहीं किया गया।

30 फीसदी टैक्स का प्रस्ताव अपने 1 फरवरी के वित्त में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने क्रिप्टो मुद्राओं, क्रिप्टो सामानों और डिजिटल एसेट्स से प्रोफिट पर 30 फीसदी टैक्स का प्रस्ताव रखा। ध्यान रहे कि इन पर एक फ्लैट टैक्स रेट लागू होगी, भले ही किसी व्यक्ति के पास डिजिटल एसेट्स कितनी भी हो। अधिकारियों ने उल्लेख किया कि ऐसे भी मामले सामने आए हैं जिनमें प्रोफिट 40 लाख रु से अधिक है, लेकिन लोगों ने रिटर्न दाखिल नहीं किया है या जीरो इनकम के साथ रिटर्न दाखिल किया है।

नहीं घोषित कर रहे इनकम पिछले महीने एक इंटरव्यू में सीबीडीटी के चेयरमैन जेबी महापात्रा ने कहा था कि क्रिप्टो विदेशी मुद्रा में बड़ी संख्या में निवेशक कमाई की घोषणा नहीं कर रहे और इनकम टैक्स विभाग ने उनके बारे में पर्याप्त जानकारी जुटा ली है। उन्होंने कहा था कि विभाग 31 मार्च के बाद कार्रवाई करेगा। टैक्स अधिकारियों ने कहा कि फाइनेंस में घोषित क्रिप्टो संपत्ति के लिए नए दिशानिर्देशों के तहत शुल्क लगाने के अलावा विभाग जुर्माना भी लगा सकता है, जो टैक्स के ऊपर लगेगा और ऊपर 50 फीसदी तक जा सकता है।

बता दें कि बीते बजट सत्र में केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने क्रिप्टोकरेंसियों से होने वाले प्रॉफिट में 30 फीसदी टैक्स लगाने की घोषणा की थी। ध्यान रहे कि इन पर एक फ्लैट टैक्स रेट लागू होगी, भले ही किसी व्यक्ति के पास डिजिटल एसेट्स कितनी भी हो। अधिकारियों ने उल्लेख किया कि ऐसे भी मामले सामने आए हैं जिनमें प्रोफिट 40 लाख रु से अधिक है, लेकिन लोगों ने रिटर्न दाखिल नहीं किया है या जीरो इनकम के साथ रिटर्न दाखिल किया है।

Also Read- PM Kisan की 11वीं किश्त पाने आज ही सबमिट कर डाले यह डाक्यूमेंट, नहीं तो नहीं आएगा पैसा

Also Read- 61 लाख रूपए के फ्री SHIB Token देने जा रहा है यह क्रिप्टो एक्सचेंज, 21 मार्च से पहले करना होगा यह काम!

Leave a Reply

Your email address will not be published.