घूंसखोरी मामले में लोकायुक्त पुलिस ने दो को पकड़ा

घूंसखोरी मामले में लोकायुक्त पुलिस ने दो को पकड़ा

भोपाल। लोकायुक्त पुलिस ने दो जगहों पर घूंसखोरी मामले में कार्रवाई की है। पहली कार्रवाई उज्जैन में की तो दूसरी कार्रवाई सिवनी जिले में की है। लोकायुक्त पुलिस के दो दस्ते ने अलग-अलग मामले में कार्रवाई की है। पहली कार्रवाई बैंक मैनेजर के खिलाफ हुई है। जिसे 15 हजार की रिश्वत मामले में ट्रेप किया गया है। तो दूसरी कार्रवाई पटवारी के खिलाफ हुई है। पटवारी 10 हजार मामले में ट्रेप हुआ है।

उज्जैन लोकायुक्त पुलिस अधीक्षक अनिल विश्वकर्मा ने बताया कि भीम गांव के बाबू सिंह ने शिकायत की थी कि सेट्रल बैंक ऑफ इंडिया शाखा आलोट के प्रबंधक मंागीलाल चौहान ने उनसे रिश्वत की मांग की है। जिस पर मामले की जांच कराई गई। जांच सही पाई गई तो प्रबंधक के खिलाफ कार्रवाई की गई हैं और उन्हें 15 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ ट्रेप किया गया है। बाबू सिंह ने बताया कि 2 लाख 73 हजार रूपए का उन्होंने ऋण मंजूर कराया था। इस राशि को पास करने के लिए प्रबंधक ने 15 हजार की रिश्वत मांगी थी। जिस पर योजना बनाकर प्रबंधक को 15 हजार की घूंस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है।

इसी तरह मीडिया रिपोर्ट की माने तो लोकायुक्त पुलिस ने सिवनी जिला मुख्यालय से महज 70 किलोमीटर दूर धनौरा तहसील में एक पटवारी को 10 हजार रूपए की रिश्वत लेते ट्रेप किया है। लोकायुक्त पुलिस उपअधीक्षक जेपी वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि केलवारी गांव के शेखपीर कुरैशी की शिकायत पर पटवारी को रिश्वत मामले में ट्रेप किया गया है। पटवारी ने कुरैशी से पैतृक जमीन में बंटवारा करने के एवज में 30 हजार रूपए की मांग की थी। काफी जोर देने पर पटवारी 10 हजार रूपए में काम करने के लिए तैयार हुआ था। इस पूरे मामले की शिकायत पीड़ित ने लोकायुक्त से की। जिस पर जांच कराई गई। जांच सही पाई गई तो योजना बनाकर पटवारी राजपूत को रिश्वत लेते रंगे हाथ ट्रेप किया गया।

Also Read- अब मचाएगा Shiba Inu Coin धमाल! Wirex Exchange पर हुआ लिस्ट

Also Read- BSNL का सस्ता रिचार्ज प्लान : 197 के रिचार्ज पर पाएं 5 महीने की वैलिडिटी 2GB डाटा

Leave a Reply

Your email address will not be published.