Thursday, May 19, 2022

hindinews11

HomeBUSINESSCentral Bank Of India के उपभोक्ता है तो हो जाइए सावधान, बैंक...

Central Bank Of India के उपभोक्ता है तो हो जाइए सावधान, बैंक उठाने जा रहा बड़ा कदम!

Central Bank Of india : यदि आपका एकाउंट सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया में है तो थोड़ा सावधान रहे। क्योंकि इन दिनों एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank Of india) अपने 600 ब्रांच को बंद करने जा रहा है। ऐसे में इस खबर को पढ़ने के बाद बैंक के उपभोक्ता यह जानने के लिए इच्छुक है कि वाकई में क्या यह होने वाला हैं। अगर सेंट्रल बैंक अपने 600 ब्रांच बंद करेगा तो कहीं उनका नजदीकि ब्रांच भी इस लिस्ट में तो शामिल नहीं। अगर शामिल हुआ तो उनके बैंक एकाउंट का क्या होगा। तो हम आपको बता दें कि इस तरह की खबरें वायरल होने के बाद बैंक प्रबंधन ने भी अपनी ओर से बयान जारी किया है। जिसमें बैंक प्रबंधन ने साफ किया है कि अभी शाखाएं बंद करने का कोई फैसला नहीं लिया गया है। बताते चले कि सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया को साल 2017 से ही त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई के तहत रखा गया है।

पिछले 3 साल में इतनी शाखाएं हुई क्लोज

मीडिया रिपोर्ट की माने तो सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank Of india) पिछले 3 सालों में 186 शाखाओं को बंद कर चुका हैं। बैंक द्वारा यह कदम ससाल 2017 अप्रैल से लेकर दिसम्बर 2021 तक उठा चुका हैं। ऐसे में जब इस वित्तीय वर्ष में यह खबर आई कि बैंक प्रबंधन एक बार फिर से 600 शाखाएं बंद करने जा रहा हैं। ऐसे में उपभोक्ताओं की धड़कने बढ़ना लाजमी हैं। क्योंकि सेन्ट्रल बैंक के ग्राहकों की कमी नहीं है।

इस तरह की खबरे सामने आने के बाद बैंक प्रबंधन सामने आया और अपनी बात खुलकर रखी। बैंक प्रबंधन ने साफ किया कि अभी इस तरह का कोई भी फैसला नहीं लिया गया हैं। बैंक ने यह भी साफ किया कि बैंक अपने ग्राहकों और बिजनेस को ध्यान में रखकर शाखाओं का विलय अथवा समय-समय पर स्थान परिवर्तन करता रहता है। बता दें कि दिसम्बर 2021 तक सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया 4,528 शाखाएं बंद कर चुका है।

RBI ने की थी कार्रवाई

रिपोर्ट की माने तो रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने साल 2017 में 11 बैंकों को पीसीए के तहत रखा था। रिजर्व बैंक ने यह कार्रवाई बैंकों द्वारा वित्तीय स्थिति में की गई गड़बड़ी के चलते की थी। हालांकि आरबीआई के इस एक्शन के बाद बैंकों ने अपने वित्तीय प्रणाली में सुधार करके अपने आपको इस सूची से बाहर करने में कामयाब रहा है। लेकिन सेन्ट्रल बैंक अब तक इस लिस्ट में बना हुआ है। बताते चले कि नियामक के तहत बैंकों को ढेर सारी जांचों का सामना करना होता है। इसके अलावा शाखा विस्तार में अन्य तरह के प्रतिबंधों का भी सामना करना पड़ता है।

Also Read- सालभर पहले इस शेयर में निवेश करने वाले बन गए करोड़पति, मिला कई गुना मुनाफा

Also Read- 15 दिन में इस शेयर ने दिया डबल मुनाफा, 10 हजार को सीधे बना दिया 20 हजार, जाने कौन है शेयर

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular