hindinews11.com

Ek villain Returns Review : एक विलेन रिटर्न्स देखने का बना रहे हैं मन तो पहले जान लें रिव्यू

Ek villain Returns Review : जॉन अब्राहम, अर्जुन कपूर एक बार फिर फेल, इस फिल्म के डायलॉग काफी बोरिंग हैं,जो कि सामान्य बोलचाल की तरह लगते हैं। इसके अलावा फिल्म में ट्विस्ट भी हो तो दर्शक इसे दूर से ही देख सकते हैं। साथ ही, सबसे बड़ी कमी फिल्मी भूमिकाएं हैं।

Ek villain Returns Review

हाल ही में बॉलीवुड की फिल्म Ek villain Returns सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। डायरेक्टर मोहित सूरी के निर्देशन में बनी यह फिल्म सिनेमाघरों में अपने दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए रिलीज हो गई है। परंतु लोगों का रिस्पांस देखकर यही बताया जा रहा है कि यह फिल्म साल 2014 में आई Ek villain का ही सीक्वल है। जिसके मेन लीड में रितेश देशमुख, सिद्धार्थ मल्होत्रा और श्रद्धा कपूर थे। वही एक विलन में जॉन अब्राहम ,अर्जुन कपूर, तारा सुतारिया और दिशा पटानी मेन लीड रोल में है ।इस फिल्म में एक्शन के साथ ड्रामा ,थ्रिलर ,सस्पेंस आदि सब कुछ देखने को मिल सकता है चलिए करते हैं Ek villain Returns Review.

Ek villain Returns Movie Review

Ek villain Returns मे अभिनेताओं का अभिनय कैसा था ?

अभिनय की बात करें तो अर्जुन कपूर का काम ठीक-ठाक ही कह सकते है। दिशा पटानी ने उनके किरदार में अच्छा काम किया है। तारा सुतारिया अपनी खूबसूरती और टोन्ड फिगर से जलवा बिखेरती हैं तो वहीं जॉन अब्राहम अपना ’46 का चेस्ट’ फ्लॉन्ट करते हैं। यह पूरी फिल्म ड्रामा और मेलोड्रामा के बीच झूलती है, जो इसकी सबसे बड़ी कमजोरी है। उनके गाने भी कुछ खास नहीं हैं। अगर हम डायलॉग की बात करें, तो ठीक है। क्योंकि फिल्म में सिर्फ ‘मेन हीरो, योर विलेन’, ‘योर विलेन, मैं हीरो’ ही हो रहे हैं। कुल मिलाकर मोहित सूरी की Ek villain Returns काफी ज्यादा बोरिंग है।

Ek villain Returns की खामियां ?

Ek villain Returns फिल्म में कई खामियां हैं जो दर्शकों को बोर करती हैं। उम्मीदों के विपरीत इस फिल्म के डायलॉग काफी बोरिंग हैं,जो कि सामान्य बोलचाल की तरह लगते हैं। इसके अलावा फिल्म में ट्विस्ट भी हो तो दर्शक इसे दूर से ही देख सकते हैं। साथ ही, सबसे बड़ी कमी फिल्मी भूमिकाएं हैं। जहां एक लड़की को अपने दिल में उतरने के लिए दूसरी लड़की का इस्तेमाल करते हुए दिखाया गया है। वह मुझे काफी नारीवादी विरोधी के रूप में प्रहार करती है। जॉन अब्राहम और अर्जुन कपूर यह देखने के लिए एक-दूसरे के साथ प्रतिस्पर्धा करने में व्यस्त हैं कि फिल्म में सबसे खराब लाइनें कौन देगा। इस फिल्म के गाने भी कोई ज्यादा खास नहीं हैं।

Ek villain Returns फिल्म क्यों देखें ?

Ek villain Returns  फिल्म का सबसे कमजोर पहलू इसका संगीत है। पिछली फिल्म ‘Ek villain ‘ के गाने ‘तेरी गलियां’ के रिवाइज्ड वर्जन को छोड़कर फिल्म खत्म होने के बाद कोई और गाना याद नहीं है। हर बार टी-सीरीज जैसी म्यूजिक कंपनी से हिंदी सिनेमा में एक नया म्यूजिक चैप्टर लिखने की उम्मीद की जाती है, लेकिन हर बार कुछ पुराने पन्ने पलटते रहते हैं। बैकग्राउंड म्यूजिक बहुत लाउड है और सिनेमैटोग्राफी और एडिटिंग तारीफ के लिए कुछ खास नहीं है। हिंसा और देहदर्शन से खुश दर्शकों के अलावा बाकी आम जनता के लिए फिल्म में कुछ खास नहीं है। टाइमपास करने के लिए भी आपको फिल्म देखनी होगी, अपने रिस्क पर देखनी होगी।

 रेटिंग 5/3

Also Read- Akshay Kumar काम व पैसों के नहीं करते कभी मना, कहा- कैसा भी काम हो उससे पैसे कमा करना चाहता हू यह काम

Also Read- लोकल ट्रेन में कुछ यूं नजर लाइगर फिल्म स्टार्स Ananya Pandey व विजय देवकरकोंडा, तस्वीर वायरल

Leave a Comment