Shib Token में अच्छी ग्रोथ के बावजूद दो हफ्तों में 60 हजार के करीब होल्डर हुए कम

Shiba Inu Coin made a big splash again, a strong investment of crores of rupees

Shib token के लिए मार्च का महीना होल्डर्स के मामले में बेहद खराब रहा। क्योंकि रिपोर्ट की माने तो 2 हफ्ते में करीब 60 हजार Shiba होल्डर में कमी आई है।

क्रिप्टोकरेंसी का बाजार (Crypto Market) मार्च महीने में कुछ खास करेंसियों के लिए अच्छा रहा। क्योंकि कई करेंसियों के दामों में इस माह मजबूती दिखी है। दुनिया की सबसे पॉपुलर करेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) व एथेरियम (Ethereum) जैसी करेंसियों के दामों में वृद्धि हुई हैं तो वहीं डॉज कॉइन (Doge Coin) व शीबा इनु (Shiba Inu) जैसे मीम कॉइनों में उतार-चढ़ाव भरी स्थिति निर्मित रही। खासतौर पर शीबा इनु के लिए मार्च का महीना किसी यादगार पहलु से कम नहीं रहा। क्योंकि इस महीने इस करेंसी के होल्डरों में बेहद कमी देखने को मिली है। एक हफ्ते में यह क्रिप्‍टोकरेंसी 21 फीसदी तक ऊपर गई है, बावजूद इसके शीबा इनु ने सिर्फ दो हफ्तों में 60 हजार होल्‍डर्स गंवा दिए।

Shib Token में अच्छी ग्रोथ के बावजूद दो हफ्तों में 60 हजार के करीब होल्डर हुए कम

cryptopotato ने अपनी रिपोर्ट में CoinMarketCap के हवाले से दाव किया है कि पिछले दो हफ्तों में SHIB को होल्‍ड करने वाले ऑन-चेन अड्रेस की संख्या में 60,000 से अधिक की गिरावट दर्ज की गई है। 16 मार्च 2022 को इसके 1,199,453 टोकन होल्‍डर थे, जबकि 28 मार्च 2022 को 1,135,593 होल्‍डर्स ही रह गए। आंकड़े में यह भी बताया गया है कि 17 मार्च को तो एक दिन में ही 32,832 अड्रेस ने टोकन को ड्रॉप कर दिया। यह सब तब हुआ जब मार्च के महीने में शीबा टोकन की कीमतों में करीब 21 फीसदी की वृद्धि हुई।

Shiba Inu की तरह ही उसकी प्रतिद्वंद्वी Doge Coin इस सप्ताह 22.8% ऊपर है, जबकि Cardano 32.8% बढ़कर 1.21 डॉलर हो गई है। रूस-यूक्रेन युद्ध व Crypto को लेकर दुनियाभर के देशों में व्‍याप्‍त आशंकाओं के बावजूद Crypto Market बेहतर कर रहा है। यह नवंबर 2021 के बाद अपने हाई मार्क को छू रहा है।

लेकिन Shiba Inu और Doge Coin को लेकर सवाल उठ रहे हैं। बीते दिनों एक रिपोर्ट में हमने आपको बताया था कि ये दोनों टोकन बीते कई हफ्तों से मार्केट कैपिटलाइजेशन के मामले में क्रिप्टोकरेंसी की टॉप-10 लिस्‍ट से बाहर हैं। आंकड़ों से पता चला था कि DOGE 13वें नंबर पर है, जबकि मार्केट कैपिटलाइजेशन के मामले में SHIB 15वें स्थान पर है। वर्तमान समय में भी लगभग पहले जैसी स्थिति बनी हुई है। जिसमें DOGE 12वें नंबर पर है, जबकि SHIB 15वें नंबर पर बना हुआ है।

बताते चले कि पिछले साल दोनों ही कॉइन की कीमतों में अच्छी ग्रोथ देखने को मिली थी। जिसके बाद इस करेंसी के कई बड़े लोगों का समर्थन मिला था। खासतौर पर एलन मस्‍क का, जो डॉजकॉइन को सपोर्ट करते हैं। लेकिन मार्केट में अभी इनकी वैल्‍यू नीचे बनी हुई है। DOGE और SHIB दोनों उन कीमतों से नीचे हैं, जो उन्होंने पिछले साल अपनी पॉपुलैरिटी के दौरान पाई थी। शायद यही वजह रही कि दोनों ही करेंसियां वर्तमान में मार्केट कैपिटलाइजेशन में टॉप-10 क्रिप्टो असेट्स नहीं हैं।

Also Read- स्कूली छात्रों को लेकर लौट रहा वाहन पलटा, ड्राइवर की मौके पर मौत, 18 बच्चे घालय- MP News

Also Read- Shiba Inu Coin को छोड़ Bitgert Coin की ओर भागे निवेशक, यह रहा प्रमुख कारण

Leave a Reply

Your email address will not be published.