hindinews11.com

MP में घर बनाना हुआ सस्ता, ईट, सरिया, गिट्टी व सीमेंट के दामों में भारी कमी

MP में अब घर बनाने जा रहे हैं तो यह खबर आपके काम की हैं। क्योंकि यहां सीमेंट, ईट, सरिया व गिट्टी की कीमतों में भारी गिरावट दर्ज हुई है। ऐसे में घर बनाने वाले मालिक व बिल्डरों को बड़ी राहत मिलने वाली है।

मीडिया रिपोर्ट की माने तो सरिया के दामों में जहां 10 से 15 हजार रूपर प्रति टन गिरावट आई है। तो प्रति बोरी सीमेंट के भाव में 50 रूपए तक की कमी आई है। सरिया व सीमेंट में इस गिरावट के बाद अब निजी मकान बनाना लोगों की आसान हो गया है। मकान बनाने वालो को भी अब घर बनाने में ज्यादा लागत नहीं उठाना पड़ेगा।

बीते दिनों दिखी थी तेजी

गर्मी के सीजन में घर बनाने वाले लोगों का कहना है कि बीते दिनों सीमेंट के भाव आसमान पर थे। सीमेंट जहां 350 रूपए प्रति बोरी मिल रही थी तो वहीं अब सीमेंट के प्रति बोरी दाम 300 रूपए पहुंच गए हैं। जबकि सरिया प्रति टन 80 हजार रूपए प्रति टन था जो अब घटकर 65 से 70 हजार रूपए प्रति टन हो गया है। सरिया व सीमेंट के दाम में आई भारी गिरावट के बाद निजी पक्का मकान बनाना सस्ता पड़ेगा। बता दें कि बढ़े हुए दाम की वजह से 2 बीएचके घर की दीवाल खड़ी करने व छत बनाने में 8 से 10 लाख रूपए लग जाते थे।

बताते चले कि गर्मी के सीजन में सरिया व सीमेंट के भाव आसमान पर थे। प्रति टन सरिया 75 से 80 हजार रुपए में बिक्री हो रही थी। इसके अलावा सीमेंट 350 रुपए प्रति बोरे में बिक्री हो रही थी। जो की अब तक सर्वाधिक भाव है। जिसके चलते बिल्डरों और निजी का मकान बना रहे लोगों ने बढ़ते दाम के कारण मकान बनाना बीच में ही छोड़ दिया। जिससे पिछले एक महीने से सीमेंट और सरिया का डिमांड घट गया है। यही वजह है सीमेंट और सरिया कंपनी वालों ने दाम घटा दिया है।

रीवा सतना सीधी सिंगरौली के सीमेंट और सरिया कारोबारियों ने बताया है। मानसून के पहले डिमांड रहती है। लेकिन अभी डिमांड घट गई है। इसलिए सीमेंट और सरिया के दाम घट गए है। मानसून के बाद तो डिमांड और घट जाएंगे। बरसात में लोग घर नहीं बनाते है। ये लग रहा है आने वाले वक्त में दाम और घट सकते है।

Also Read- Most Valuable 50 Paise Coin : बेहद दुर्लभ है 50 पैसे का यह सिक्का, कीमत सुन अभी से लग जाएंगे तलाशने

Also Read- 2 रूपए वाले इस शेयर ने निवेशकों को बना दिया करोड़पति, 70,000 फीसदी से दिया ज्यादे का रिटर्न

Leave a Comment