Business Idea : हर्बल पौधो की खेती से करें लाखों की कमाई, सरकार कर रही पूरी मदद

Business Idea : हर्बल पौधो की खेती से करें लाखों की कमाई, सरकार कर रही पूरी मदद

Business Idea : यदि आप जॉब के साथ लाखों की कमाई करना चाहते है तो इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़े। क्योंकि आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे हर्बल पौधों की खेती से लाखों की होने वाली कमाई के बारे में। इस बिजनेस में खास बात यह है कि जिनके पास खेत नहीं है वह भी इसे कर सकते हैं। देश में इन दिनों औषधीय यानी कि हर्बल खेती का चलन तेजी से बढ़ रहा है। इन पौधों की खेती कम यानी कि उत्पादन न के बराबर होने की वजह से इसकी मांग काफी ज्यादा है। जिसे किसान करके लाखों की कमाई कर सकते हैं। सरकार भी किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के उद्देश्य से मेडिसिनल प्लांट की खेती को बढ़ावा देने का काम कर रही है।

Business Idea : हर्बल पौधो की खेती से करें लाखों की कमाई, सरकार कर रही पूरी मदद

इस बिजनेस को करने के लिए आपको बड़े-बड़े खेत की जरूरत नहीं। साथ ही इसमें ज्यादा निवेश की भी जरूरत नही है। मेडिसिनल प्लांट की खेती के लिए खुद का खेत होना भी जरूरी नही है। इसे कॉन्ट्रैक्ट पर भी लेकर किया जा सकता है। आजकल कई कंपनियां मेडिसिनल प्लांट की खेती कांक्ट्रैक्ट पर करा रही है। इस बिजनेस को कुछ हजार रूपयों में शुरू किया जा सकता है। लेकिन यहां से होने वाली कमाई लाखों में होगी।

इन पौधें की करें खेती

मेडिसिनल प्लांट के पौधों की खेती में शतावरी, सर्पगंधा, तुलसी, स्टीविया, एलोवेरा, एन्नुआ, मुलैठी, आर्टीमीसिया जैसे पौधे शामिल हैं। इन ज्यादार पौधों को गमलो में भी उगाया जा सकता है। दवा व आयुर्वेद में इन पौधों का उपयोग होने की वजह से इनकी अच्छी कीमत मिल जाती है।

माह में 3 लाख तक की कमाई

तुसली (Tulsi Plant) को आमतौर पर धार्मिक मामलों से जोड़कर देखा जाता है। लेकिन इसमें मौजूद मेडिसिनल गुण से तगड़ी कमाई की जा सकती है। तुलसी के एक नहीं बल्कि कई प्रकार होते हैं। जिसमें यूजीनेल व मिथाईल सिनामेट जैसी तुलसी शामिल है। जिनका उपयोग कैंसर जैसी भयावह बीमारी की दवा तैयार करने में किया जाता है। एक हेक्टेयर में तुलसी उगाने पर 15 हजार रूपए निवेश की जरूरत होती है। यही 15 हजार तीन महीने में 3 लाख रूपए देकर जाता है।

Business Idea : हर्बल पौधो की खेती से करें लाखों की कमाई, सरकार कर रही पूरी मदद

स्टीविया कराएगा मोटी कमाई

स्टीविया की खेती (stevia Plant Farming) में आपको खाद व कीटनाशक दवाओं की जरूरत नहीं पड़ती है। स्टीविया के पौधों को कीट नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। साथ ही एक बार पौधे रोपित करने के बाद 5 साल तक पैदावार इससे मिलती है। स्टीविया का उत्पादन हर साल बढ़ता है। स्टीविया की एक एकड़ में खेती करने के लिए करीब 1 लाख रूपए की लागत आती है। जबकि कमाई 6 लाख रूपए तक हो जाती है। यानी कि 5 लाख रूपए का मुनाफा। शायद यही वजह है कि किसान आज स्टीविया की खेती को बड़े पैमाने पर कर रहे हैं।

दुनियाभर में जिस तरह से डायबटीज से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ रही है, उसकी वजह से स्टीविया की मांग (stevia Plant Farming) काफी तेजी से बढ़ी है। स्टीविया का पौधा 60 से 70 सेंटी मीटर बड़ा होता है। यह कई सालों तक चलने वाला पौधा है। जिसमें ढेर सारी शाखाएं होती हैं। इसकी पत्तियां भले आम पत्तियां जैसी हो, लेकिन यह चीनी से करीब 25 से 30 गुना मीठी होती है। देश के रायपुर, इंदौर, पुणे, बेंगलुरूजैसे शहरों में सकी खेती बड़े पैमाने पर की जाती है।

प्रशिक्षण की जरूरत

मेडिसिनल प्लांट की खेती के लिए अच्छे प्रशिक्षण की जरूरत होती है। जिससे आप भविष्य में इनकी खेती में खोधा न खाएं। लखनऊ में सेंट्रल इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिसिनल एंड एरोमैटिक प्‍लांट (सीमैप) इन पौधों की खेती के लिए ट्रेनिंग देता है। सीमैप के जरिए ही दवा कंपनियां आपसे कांट्रेक्‍ट साइन भी करती हैं, जिससे इनकी बिक्री के लिए आपको इधर-उधर भटकने की जरूरत नहीं पड़ती है।

Also Read- Kwality Pharma share : दो साल में इस शेयर ने निवेशकों को बनाया लखपति, 1 लाख के हो गए 16 लाख

Also Read- Business Idea : गर्मी में किसान भाई इस चीज की खेती करके 3 महीने बनाए तगड़ा मुनाफा

Leave a Reply

Your email address will not be published.