गजब की कारीगरी : बरगद के पेड़ की जड़ों से बना दिया महाकाल भगवान की दिव्य आकृति, दूर-दूर से देखने पहुंच रहे लोग

गजब की कारीगरी : बरगद के पेड़ की जड़ों से बना दिया महाकाल भगवान की दिव्य आकृति, दूर-दूर से देखने पहुंच रहे लोग

गजब की कारीगरी : सावन का महीना चल रहा है। यह महीना पूरी तरह से भगवान शिव को समर्पित हैं। इस महीने में भगवान शिव की विधि पूर्वक आराधना करने विशेष पुण्य लाभ की प्राप्ति होती है। इस बीच मप्र के एक जिले में गजब की कलाकारी देखने को मिली हैं। एक कलाकार ने बरगद के पेड़ की जड़ों से भगवान शिव की दिव्या आकृति तैयार कर दी है। जो इन दिनों आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। जिसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग आ रहे हैं।

मप्र के शिवनी जिले में एक कलाकार ऐसा जुनून शायद ही आपने कभी देखा होगा। एक ऐसा कलाकार जिसने शिव भक्ति में बरगद के पेड़ की जटाओ से बना दिया बाबा महाकाल की प्रतिमा। वैसे भी सावन के महीने में शिव आराधना का क्रम प्रत्येक सनातनी के घरों और शिवालयों में जारी है।

सिवनी शहर के लगभग 2000 साल पुराने प्रसिद्ध और प्राचीन मठ मंदिर में पेड़ों की बेला, डाली और लकड़ियों से बाबा महाकाल की सुंदर प्रतिमा का निर्माण स्थानीय कलाकार ऋषभ कश्यप ने किया है। जिसे देखने बड़ी संख्या में लोग आ रहे हैं।

गजब की कारीगरी : बरगद के पेड़ की जड़ों से बना दिया महाकाल भगवान की दिव्य आकृति, दूर-दूर से देखने पहुंच रहे लोग

कलाकार ऋषभ ने बताया कि भगवान शिव की कलाकृति बनाने के लिए सबसे पहले एक गड्ढा खोदा। इसके बाद पेड़ से काटकर लाई गई टहनी को उसमें खड़ाकर मिट्टी से भर दिया। बीते दिनों आई आंधी में उसने सहयोगी के साथ लकडिय़ों को एकत्र किया था।

उसको टहनी से जोडऩे के बाद उसमें जंगल से लाई गई बरगद की जड़, टोकनी और अन्य सामानों का उपयोग कर भोलेनाथ और नाग की आकृति तैयार कर दी। भगवान भोलेनाथ की आकृति को देखने के लिए शहर भर के लोग मठ मंदिर पहुंच रहे हैं।

Also Read- Urfi Javed का छलका दर्द, कहा-गरीब कहकर लोग करते थे बेइज्जत, होटल से वेटर ने सरेआम निकाला

Also Read- Sidhi News : मध्यान भोजन में गिरी छिपकली, दो दर्जन छात्र अस्पताल में भर्ती

Leave a Reply

Your email address will not be published.