TICKER

6/recent/TICKER-posts

Header Ads Widget

Happy Birthday Khesari Lal Yadav : पहली बार पिता से पैसे लेकर रिकार्ड किए थे गाना, हो गया था फ्लाफ, फिर ऐसे मिली सफलता

Happy Birthday Khesari Lal Yadav: भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार खेसारी लाल यादव (Bhojpuri Superstar Khesari Lal Yadav) का जन्म 6 मार्च 1986 को हुआ था। 6 मार्च 2021 को वह अपना 35वां जन्मदिन सेलीब्रेट करेंगे। खेसारी भोजपुरी फिल्मों के न सिर्फ बेहतरीन एक्टर हैं बल्कि वह एक शानदार सिंगर भी हैं। खेसारी लाल के आए दिन एलबम सांग रिलीज होते रहते हैं। वह हर तरह के गाने गा चुके हैं। फिर चाहे होली का त्यौहार हो या फिर भक्ति संगीत। फिल्मी गीत हो या डीजे गीत। 

Happy Birthday Khesari Lal Yadav : पहली बार पिता से पैसे लेकर रिकार्ड किए थे गाना, हो गया था फ्लाफ, फिर ऐसे मिली सफलता

वह सभी तरह के गानों के लिए जाने जाते हैं। गानों के साथ ही अब तक वह कई फिल्मों में बतौर लीड एक्टर नजर आ चुके हैं। खेसारी लाल के दुनियाभर फैंस फालोइंग हैं। वह एक लग्जरी लाइफ जीते हैं। लेकिन क्या आप जानते आज लग्जरी लाइफ जीने वाले खेसारीलाल कभी बचपन में फटे पैंट से गुजारा किया था। जिसे खुद एक इंटरव्यू के दौरान खेसारी ने बताया था। तो चलिए जानते है भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार खेसारीलाल यादव से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें।

खेसारीलाल यादव (Khesari Lal Yadav) ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि जब वह अपने बचपन को याद करते हैं तो उनके आंखों में आंसू आ जाते हैं। उन्होंने अपने जीवन में बेहद गरीबी देखी हैं। खेसारी कहते है कि उनका घर मिट्टी का हुआ करता था। बरसात के मौसम में वह पूरी तरह से ढह गया। वहां रहने की किसी भी तरह गुंजाइस नहीं थी। लिहाजा हमारे बगल में एक ईटें का घर था तो हम वहां रहा करते थे। खेसारी आगे बताते है कि मेरा जन्म भी उसी घर में हुआ था। ऐसा मां बताया करती थी।

Happy Birthday Khesari Lal Yadav : पहली बार पिता से पैसे लेकर रिकार्ड किए थे गाना, हो गया था फ्लाफ, फिर ऐसे मिली सफलता

एक ही पैंट को पहनते थे 7 भाई

खेसारी (Khesari Lal Yadav) बताते हैं कि हम तीन भाई थे। मेरे चाचा जी के चार लड़के थे। चाचा जी के लड़कों को भी मां ही पालती थी। वह कहते है कि एक पैंट आया करता था जिसे सबसे पहले बड़े भाई पहनते थे, फिर जब वह उतारते तो दूसरे भाई पहनते थे। इस तरह एक ही पैंट से हम काम चलाते थे। वह कहते है कि कभी-कभार हमें फटे हुए पैंट से ही काम चलाना पड़ता था।

चने का व्यापार करते थे पिता

आगे इंटरव्यू में खेसारी (Khesari Lal Yadav) बताते है कि पिता रात में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करते थे। सुबह 6 बजे वह घर आते थे। 3 घंटे सोते थे। फिर 9 बजे मण्डी चले जाते थे। 

Happy Birthday Khesari Lal Yadav : पहली बार पिता से पैसे लेकर रिकार्ड किए थे गाना, हो गया था फ्लाफ, फिर ऐसे मिली सफलता

वहां जो प्याज बेकार हो जाया करती थे उन्हें सस्ते में खरीदकर घर लाते थे। फिर उस सड़े हुए प्याज को बाहर निकालते थे। जो अच्छा प्याज हुआ करता था उसे लेकर चने बेचने चल देते थे। जहां वह दिनभर चने बेंचते थे।

पिता से पैसे लेकर बनाए रिकार्ड किए दो गीत

खेसारीलाल (Khesari Lal Yadav) बातते हैं कि शुरूआत से ही मेरा गाने-बजाने में इंट्रेस्ट था। लेकिन मैं कभी नहीं सोचा था मैं यहां तक पहुंच पाउंगा। शुरूआती दिनों में मैं रामायण एवं महाभारत के गीतों को गाता था। एक दिन मैंने पिताजी से कहा कि मुझे गाना रिकार्ड करना हैं। कैसेट बनवाना हैं। तो पिता जी ने कहा जाओ बेटा रिकार्ड करो अगर तुम्हारी यही इच्छा है तो।

Happy Birthday Khesari Lal Yadav : पहली बार पिता से पैसे लेकर रिकार्ड किए थे गाना, हो गया था फ्लाफ, फिर ऐसे मिली सफलता

 फिर मुझे उन्होंने 12 हजार रूपए दिए। खेसारी (Khesari Lal Yadav) बताते है कि उस समय 12 हजार रूपए की बहुत अहमियत थी। जो मेरे पापा ने मुझे दिया था। मैं कैसेट बनाया, लेकिन वह फ्लाफ हो गया। मैं पूरी तरह से टूट गया। लेकिन मेरे पिता जी ने कहा कि बेटा तुम्हे गायक ही बनना हैं तो चिंता मत करों मैं हूं न, मैं तुम्हे पैसा दूंगा। दिल छोटा मत करों। खेसारी बताते है कि मेरे पिता ने मुझे दूसरी बार मुझे 15 हजार दिया। फिर मैंने कैसेट बनवाया। तो वह भी फ्लाफ हो गया। 

तीसरी बार हुआ हिट

खेसारी बताते हैं कि जब तीसरी बार गाना रिकार्ड किया तो वह तीन जिलों में खूब बजा। इस गाने को रिकार्ड करने के लिए मेरे पिता जी ने 8 हजार रूपए दिए थे। और कुछ पैसे में जोड़ रखा था। चूंकि मैं उस समय रामायण-महाभारत गाया करता था, जिसमें मुझे 500-1000 मिला करते थे। 

Also read- जब यामी गौतम कपड़ों की वजह से आडीशन में हो गई थी फेल, कास्टिंग डायरेक्टर किया था यह कमेंट

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां