खूब बजेंगे सावन महीने में यह कजरी गीत

Sawan 10 kajari Geet- भगवान भोलेनाथ का सबसे प्रिय सावन महीने की शुरूआत 6 जुलाई से होने वाली हैं। इस दौरान भोलेबाबा के भक्त भगवान शिव को प्रसन्न करने विधि-विधान से पूजा-पाठ करेंगे। इस सावन माह 5 सोमवार पड़ने वाले हैं। सावन महीना हरियाली के लिए भी जाना जाता है। सावन के महीने में कजरी गीतों की भी जमकर धूम रहती है। तो चलिए जानते हैं सावन महीने में बजने में कुछ फेमस गीतों के बारें में।
खूब बजेंगे सावन महीने में यह कजरी गीत

कजरी गीत

  • हरे रामा भीजत मोर चुनरिया बदरिया बरसे रे हारी
  • पिया मेंहदी लियादा मोतीझील से
  • वीरन भैईया आईहय सावनमा में
  • सखी हो आग लगे नईहर में
  • सैईया बिना न भावेला सवनवा
  • रिमझिम बरसे ला सवनवा
  • हमके सावन में झुलनी गढ़ा दा पिया
  • सावन महीना मेरा जिया जले
  • काहे करलू गुमान गोरी सावन में
  • अरे रामा रिमझिम बरसे पनिया
  • कैईसे खेले जैबू सावन में कजरिया

अब नहीं दिखाई देते झूले

सावन के महीनों में झूला डालने व झूलने की परम्परा अब न के बराबर ही दिखाई देती हैं। पहले सावन का महीना आते ही हर गली-नुक्कड़ व गांव में लोग अक्सर झूला-झूलते नजर आते थे। लेकिन अब बदलते परिवेश में यह परम्परा विलुप्त होती नजर आ रही हैं। अब न ही झूले दिखाई देते है न और झूलने वाले लोग। 


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां