coronavirus medicine : घर बैठे इस प्रोसेस से मिलेगी पतंजलि की कोरोनिल दवा

पतंजलि द्वारा (Patanjali) मंगलवार को कोरोनिल (patanjali coronil price) नामक दवा को लांच किया हैं। यह दवा कोरोना वायरस के इलाज के लिए हैं। पतंजलि के मैनेजिंग डायरेक्टर बालकृष्ण द्वारा बताया गया है कि कोरालिन नामक दवा का सेवन करने से कोरोना पीड़ित मरीज 3 से 14 दिन में पूरी तरह से स्वस्थ्य हो जाता है।
coronavirus medicine : घर बैठे इस प्रोसेस से मिलेगी पतंजलि की कोरोनिल दवा

 कोरोलिन दवा लांचिंग के दौरान मौजूद बाबा रामदेव ने बताया कि यह दवा का उपयोग कोरोना पाॅजिटिव मरीजों पर किया गया। जिसमें पाया गया कि 69 प्रतिशत मरीज 3 दिन में पाॅजिटिव से निगेटिव हुए हैं। जबकि 100 प्रतिशत लोग एक हफ्ते में पूरी तरह से संक्रमण मुक्त हुए। 

ऐसे घर बैठे मिलेगी दवा

कोरोनिल दवा आसानी से पीड़ित व्यक्ति तक पहुंच सके इसके लिए बकायदा आॅन लाइन एप भी लांच किया जाएगा। जिसकी जानकारी बाबा रामदेव ने कोरोनिल दवा लांचिंग के दौरान दी। उन्होंने कहा कि जो लोग घर बैठे या आॅन लाइन इस दवा की खरीदी करना चाहते हैं उनके लिए एक मोबाइल एप अगले सोमवार तक लांच किया जाएगा। इस एप का नाम होगा आर्डर मी लांच। इस एप के जरिए लोग घर बैठे आॅन लाइन आर्डर करके कुछ ही दिनों में इस दवा को प्राप्त कर सकेंगे। इसके अलावा जो भी व्यक्ति आॅफलाइन इस दवा की खरीदी करना चाहते है वह पतांजलि के स्टोर पर खरीद सकते हैं। यह दवा एक हफ्ते के अंदर हर स्टोरों में उपलब्ध करा दी जाएगी।

क्या होगी कीमत

लांचिंग के दौरान आचार्य बालकृष्ण ने बताया कि इस दवा में हमने कई प्रकार की जड़ी-बूटियों का मिश्रण किया हैं। क्योंकि यह दवा पूरी तरह से आयुर्वेदिक है। इसलिए इसका किसी भी प्रकार से कोई साइडइफेक्ट नहीं है। इसे हर व्यक्ति बड़ी आसानी के साथ ले सकता है। इस दवा के पूरे किट की प्राइज 545 रूपए रखी गई जो कि पूरे 30 दिनों के लिए होगी।

 पतांजलि द्वारा बताया गया कि कोरोना वायरस की दवा पर काम पिछले दिसम्बर माह से किया जा रहा है। यह दवा पर कार्य दिव्य फारर्मेंसी एवं पतांजलि हरिद्वार लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है। पतंजलि ने बताया कि कोरोना वायरस की दवा पर शोध पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट हरिद्वार एवं नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल साइंस जयपुर के संयुक्त प्रयास का परिणाम है। 

आयुष मंत्रालय ने प्रचार-प्रसार पर लगाई रोक, मांगा डिटेल्स

पतंजलि द्वारा लांच की गई कोरोना वायरस की आयुर्वेदिक दवा पर आयुष मंत्रालय द्वारा रोक लगाते हुए डिटेल्स मांगी गई हैं। मंत्रालय का कहना है कि इस दवा का प्रचार तब तक नहीं करें जब तक इसकी पूरी जांच नहीं हो जाती है। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां