Covid-19 : संशोधित आदेश के बाद शहर में खुली दुकानें, शारीरिक दूरी की उड़ी धज्जियां

रीवा। लॉकडाउन के तीसरे चरण (Lockdown tharid time) में प्रशासन द्वारा लिए गए निर्णय के बाद सोमवार को शहर की फिजा बदली-बदली सी रही। पिछले 40 दिनों से घर में बैठकर कोरोना की जंग से लड़ाई लड़ रहे व्यापारी सहित आमजनों को जैसे ही प्रशासन से राहत भरी खबर मिली कि ग्रीन जोन में रीवा में लॉकडाउन के नियमों में संशोधन किया गया है और दुकानें खुलने के साथ ही अन्य सेवाएं भी बहाल की जा रही सुबह से ही व्यापारी अपनी दुकानें खोलने के लिए बाजार पहुंच गए तो वहीं घर में रह रहे लोग भी बाजार की आवोहवा देखने के लिए सड़क पर उतर आए। जिसके चलते शारीरिक दूरी के नियमों की धज्जियां भी इस दौरान उड़ती रही। 
संशोधित आदेश के बाद शहर में खुली दुकानें, शारीरिक दूरी की उड़ी धज्जियां

जबकि प्रशासन का सख्त निर्देश है कि शारीरिक दूरी का पालन किया जाना अनिवार्य है। बावजूद इसके बाजार सहित ऐसे सार्वजनिक स्थलों में शारीरिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा। पहले ही इस दिन स्थिति खराब रही। 

अस्पताल में मरीजों की बढ़ी भीड़

संजय गांधी अस्पताल में सोमवार को मरीजों की लम्बी लाइन लगी रही। हालांकि अस्पताल प्रशासन द्वारा शारीरिक दूरी का पालन कराने के लिए लगातार लोगों को समझाइश दी जा रही थी। लेकिन अस्पताल में मरीजों की ज्यादा संख्या होने के कारण भीड़ रही। इसी तरह बैंक एवं अन्य कार्यालयों में भी लोग लम्बी लाइन में खड़े रहे। 

कांटमेंट एरिया में भी दी गई ढील

शहर का घोषित कांटमेंट एरिया इन्द्रानगर में भी जन मानस की समस्या को देखते हुए प्रशासन द्वारा ढील दी गई है। इन्द्रा नगर और बरा के 100 घरों को प्रशासन ने कांटमेंट एरिया घोषित किया गया है। बता दें कि उक्त एरिया में एक डॉक्टर दम्पत्ति कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। जिसके चलते प्रशासन ने पूरे एरिया को सील करने के साथ ही कांटमेंट एरिया उसे घोषित कर रखा है। लगभग एक सप्ताह से उक्त 100 घरों में रह रहे लोग खाने-पीने की सामग्री को लेकर परेशान रहे। जिसके चलते प्रशासन ने अति आवश्यक सेवा दूध,सब्जी और किराना की तीन दुकानें संचालित करने का निर्णय लिया है। जिससे काटमेंट एरिया के लोग खाद्य सामग्री की खरीदी कर सकें। 

तीसरी आंख का है पहरा

इन्द्रा नगर और बरा को प्रशासन द्वारा सील करने के साथ ही अब कैमरे से भी उसकी निगरानी की जा रही है। उक्त एरिया में जहां सीसीटीव्ही कैमरे लगाए गए हैं वहीं ड्रोन कैमरे से प्रशासन उक्त एरिया की हलचल पर निगरानी रख रहा है। जिससे लोगों की भीड़ एकत्रित न हो और लॉकडाउन तथा धारा 144 का पालन करने के साथ ही कोरोना की इस जंग में लोग अपना सहयोग दें सकें। प्रशासन द्वारा चेकपोस्ट बनाए जाने के साथ ही बनाई गई टीम लगातार उक्त क्षेत्र में भ्रमण कर रही है और जानकारी एकत्र करने के साथ ही लोगों की जांच आदि भी कर रही है जिससे कोरोना जैसी महामारी से न सिर्फ इन्द्रा नगर बल्कि शहर को बचाया जा सके। 
Covid-19 : संशोधित आदेश के बाद शहर में खुली दुकानें, शारीरिक दूरी की उड़ी धज्जियां

बार्डर पर प्रवासियों को किया गया कॉरंटाइन

उत्तर प्रदेश के सीमा से लगे हुए चाकघाट में लगभग 300 सैकड़ा प्रवासी मजदूर को प्रशासन ने चाकघाट में ही कॉरंटाइन किया है। जानकारी के मुताबिक उक्त प्रवासी मजदूर अलग-अलग राज्यों से वाहनों में भरकर उत्तर प्रदेश जा रहे थे। चाकघाट बार्डर पर जैसे ही यूपी सीमा को क्रास करने का प्रयास किए उत्तर प्रदेश प्रशासन ने उन्हें रोक दिया है। जिसके बाद रीवा जिले के प्रशासन ने ऐसे प्रवासी मजदूरों को चाकघाट में ही रखने के साथ ही उनकी जांच आदि करवा रहा है। बताया जा रहा है कि जांच प्रक्रिया पूरी होने के बाद तथा सभी मजदूरों का बायोडाटा तैयार करके प्रशासन उनके गृह ग्राम भेजने के लिए यूपी प्रशासन से बात करेगा। 

Post a Comment

0 Comments