Payriya Treatment : इन घरेलू 12 नुस्खों के माध्यम से ठीक करें पायरिया

Payriya Treatment :  पायरिया दांतों में होने वाली बीमारी हैं। पायरिया रोग से आज हर 20 में से 6 व्यक्ति पीड़ित हैं। पायरिया रोग के कारण व्यक्ति को कई तरह की समस्याओं से जूझना पड़ता हैं। पायरिया के कारण मसूढ़ों से खून बहता है। दांत हिलने लगते हैं। मसूढ़ों में सूजन हो जाता हैं। जिससे असहनीय दर्द का भी सामना करना पड़ता हैं। पायरिया होने से दांत पूरी तरह से कमजोर हो जाते हैं। जिससे लोग खाना सही तरीके से चबाकर नहीं खा पाते हैं। मुंह से दुर्धंग आने लगती हैं। 
Payriya Treatment : इन घरेलू 12 नुस्खों के माध्यम से ठीक करें पायरिया

जिससे समाज में भी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है। पायरिया रोग को लेकर आप कई डेंस्टिट के पास जाएंगे तो वह सफाई करने के लिए कहेंगे और कुछ दवाईयां देंगे। जब तक दवाईयां चलेगी तब आप पूरी तरह से स्वस्थ्य रहेंगे। लेकिन जैसे ही दवाईयों का सेवन आपने बंद किया फिर से वहीं समस्या शुरू हो जाती हैं। जानकारों की तो पायरिया रोग काफी खतरनाक बीमारी हैं। अगर इस बीमारी का समय पर इलाज न किया गया तो समय से पहले ही आपके दांत गिरने शुरू हो जाएंगे और कम उम्र में ही आप बूढ़े दिखने लगेंगे।

पायरिया होने के कारण

जानकारों की माने तो पायरिया रोग होने का मुख्य कारण हैं दांतों की सही तरीके से देखभाल अथवा साफ-सफाई न करना हैं। सही देखभाल न होने की वजह से दांतों में गंदगी जम जाती हैं। धीरे-धीरे वह गंदगी आपके स्वस्थ्य मसूढ़ों को प्रभावित करने लगती है और आप पायरिया जैसी गंभीर बीमारी की चपेट में आ जाते हैं। वैसे पायरिया होने के कई और कारण भी माने जाते हैं जैसे भोजन का ठीक से न पचना, लीवर की खराबी, रक्त में अम्लता बढ़ जाना, मांसाहार का सेवन करना, गरिष्ठ भोजन का सेवन, गुटखा, तम्बाखू, पान आदि का अत्यधिक मात्रा में सेवन करना, नाक की बजाय मुंह से श्वास लेना, भोजन ठीक से चबाकर न खाना, पैट में गैस बनना, भोजन ठीक से न पचना, कब्ज आदि पायरिया होने के प्रमुख कारण है। 

पायरिया का इलाज

पायरिया जैसी गंभीर बीमारी से अगर आप जूझ रहे हैं। तो आज इस पोस्ट में आपको कुछ घरेलू नुस्खे बताएंगे। जिसका आप डेली इस्तेमाल करके इस बीमारी से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते हैं। 

Payriya Treatment : इन घरेलू 12 नुस्खों के माध्यम से ठीक करें पायरिया
 पायरिया रोग से छुटकारा पाने के लिए डेली अपने उंगलियों में मंजन लेकर मसूढ़ों को दबा-दबाकर करना चाहिए। इससे मसूढ़ों मजबूत होंगे और साथ ही आपके दांत भी। इसके अलाव पायरिया रोग के लिए नीम एवं बबूल की दातून भी काफी उपयोगी। नीम एवं बबूल के दातून को चबाकर करने से दांत मजबूत एवं ब्रश की अपेक्ष दांत भी अच्छी तरीके से साफ हो जाते हैं। 

 पायरिया रोग में सरसों का तेल एवं नमक भी काफी लाभकारी हैं। नमक में थोड़ा से सरसो का तेल मिलाकर पेस्ट बना लें। इसके बाद अपनी उंगलियों के माध्यम से अपने मसूढ़ों की अच्छी तरह से मालिश करें।
 आजकल की जनरेशन के लोग अक्सर शौच के दौरान भी फोन पर बात करते रहते हैं। लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए। जानकारों की माने तो शौच के दौरान अपने दांतों का दबाकर रखना चाहिए। इससे दांत सदैव स्वस्थ्य रहते हैं।

 फिटकरी को भूनकर उसका पेस्ट बना लें। फिर डेली इसका मंजन करने से भी दांत स्वस्थ्य होते हैं। इसके अलावा फिटकरी के पानी से कुल्ला करना भी सेहतमंद है।

नीम का तेल भी पायरिया रोग के लिए लाभकारी हैं। नीम के तेल को उंगलियों में डूबोकर मसूढ़ों की अच्छी तरह से मालिश करने से दांत स्वस्थ्य होते हैं।
Payriya Treatment : इन घरेलू 12 नुस्खों के माध्यम से ठीक करें पायरिया

 पायरिया रोग में प्याज काफी लाभयदाक हैं। प्याज को सबसे पहले तबे में भून लें। इसके बाद उसे अपने दांते के नीचे दबा लें। ऐसा तकरीबन 10 मिनट तक करें। जिससे आपके मुंह में लार बन जाएंगा। उस लार को पूरे मुंह में घुमाएं। ऐसा आप दिन में 2 से 3 बार लगभग 10 से 15 दिनों तक करने से पायरिया रोग में पूरी तरह से निजात मिल जाएगी।

 तुलसी के 20-25 पत्तों को एक गिलास में पानी में अच्छी तरह से उबाल लें। इसके उसे ठण्डा करके छान लें। इसके बाद उस पानी से दिन में 2 से 3 बार कुल्ला करें। ऐसा लगभग 10 से 15 दिनों तक करने से पायरिया रोग जड़ से समाप्त हो जाता है।

पायरिया रोग में गाजर, टमाटर, पालक, गेहूं एवं जवारे का रस काफी लाभकारी हैं। इन रसों का सेवन करने से कुछ ही दिनों में पायरिया रोग जड़ से समाप्त हो जाता है। 

पायरिया रोग में नीबू का रस भी काफी लाभकारी हैं। नीबू के रस को पानी में मिलाकर सुबह-शाम पीने से पायरिया से छुटकारा मिलता है।

 अजीर्ण एवं कब्ज, गैस से बचने के लिए सुपाच्य भोजन ग्रहण करें। मिर्च मसाला से परहेज करें। रात में सोते समय हर्रे के साथ गर्म दूध पीना चाहिए। चाय, काफी आदि से भी परहेज करें।

 काली मिर्च के पाउडर में थोड़ा से नामक मिलकर दांतों की अच्छी तरह से मालिश करने से पायरिया रोग से निजात मिल जाता है। 

 एक गिलास पानी में लौंग के तेल की 4-5 बूंदे मिलाकर कुल्ला करने से भी पायरिया रोग से निजात मिलती हैं।

पायरिया रोग पर सुपारी भी रामबाण की तरह काम करता हैं। सुपारी को भूनकर इसका चूर्ण बना लें। सुपारी के इस चूर्ण से दिन में 2 बाद दांतों की अच्छी तरह से मालिश करें। ऐसा करने से आपको कुछ ही दिनों अच्छे रिजल्ट देखने को मिलेंगे।
Payriya Treatment : इन घरेलू 12 नुस्खों के माध्यम से ठीक करें पायरिया

अमरूद का पत्ता भी पायरिया रोग के लिए लाभदायक माना गया हैं। अमरूद के कोमल पत्तियों को चबाने से मुंह की दुर्धंग तो छुटकारा मिलता ही है साथ ही पायरिया रोग भी धीरे-धीरे ठीक हो जाता है। दोस्तों ये थी पायरिया रोग से निजात पाने कुछ घरेलू नुस्खे। इन नुस्खों का इस्तेमाल से पूर्व किसी वैद्य अथवा चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

Post a Comment

0 Comments