लाॅकडाउन के चलते चित्रकूट जिलेके हाईवे में मजदूरों की हलचल

परदेश कमाने गए मजदूर अब लाॅकडाउन के चलते अपने-अपने घरों के लिए लौट रहे हैं। मजदूरों की वापसी की हलचल हाईवे पर साफ देखी जा सकती हैं। उत्तर प्रदेश के झांसी, मिर्जापुर व लखनउ के राष्ट्रीय राजमार्ग में यह नजारा देखा जा सकता है।

 घरों को लौट रहे मजदूरों ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते पूरा देश लाॅकडाउन पर हैं। जिससे उनके लिए रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया हैं। वह कमाने के लिए परदेश गए हुए थे। जब पूरा देश बंद हैं तो फिर काम भी बंद ही हैं। इस कारण वह अपने-अपने मूल निवास जा रहे हैं। 

मजदूरों द्वारा बताया गया कि उन्हें बरगढ़, इलाहाबाद आदि क्षेत्रों तक प्रशासन द्वारा ड्राप किया गया हैं। अब आगे के लिए कोई वाहन नहीं है। लिहाजा वह पैदल चलकर अपने घर तक जाएंगे। इन मजदूरों में तकरीबन 3 दर्जन महिलाएं भी शामिल हैं। इन मजदूरों में कुछ मजदूर चित्रकूट, सतना जिले के भी हैं। 

बता दें कि इस लाॅडडाउन के चलते कई लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। लिहाजा प्रशासन द्वारा मप्र के कुछ जिलों में सुबह 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक जरूरतमंद लोगों को जाने की छूट दी हैं। इस दौरान लोग प्राॅपर दूरिया एवं सुरक्षा रखकर सब्जी, दूध, किराना एवं अन्य जरूरी सामान खरीद सकते हैं। 

मप्र के रीवा जिले में सब्जी व्यापारियों के लिए बकायदा दूर-दूर गोला बनाया गया हैं। जहां पर सब्जी व्यापारी उसी गोले में बैठकर सुबह के समय सब्जियों का व्यापार करते हैं। 

Post a Comment

0 Comments