अब महाराष्ट्र में सरकारी कर्मचारी करेंगे 5 दिन काम, प्रदेश सरकार ने दी सुविधा

महाराष्ट्र के सरकारी दफ्तरों में भी अब 5 Days a Week यानी हफ्ते में पांच दिन काम होगा। उद्धव ठाकरे सरकार ने प्रदेश के 20 लाख सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों को यह सुविधा दी है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में यह फैसला लिया गया। 
अब महाराष्ट्र में सरकारी कर्मचारी करेंगे 5 दिन काम, प्रदेश सरकार ने दी सुविधा

नई व्यवस्था के तहत कुल कार्यअवधि में 45 मिनट का इजाफा किया गया है। प्रदेश सरकार का मानना है कि इससे जहां अधिकारियों और कर्मचारियों का जीवन बेहतर होगा, वहीं सरकारी वाहनों के ईंधन और दफ्तरों की बिजली का खर्च भी कम होगा। राज्य सरकार के कर्मचारी कई वर्षों से यह मांग कर रहे थे।

बता दें, मुंबई में सरकारी कर्मचारियों के लिए काम का समय सुबह 9.45 बजे से शाम 5.30 बजे तक है। वहीं बाकी महाराष्ट्र में सुबह 10 बजे से शाम 5.45 बजे तक काम होता है। इसमें आधे घंटे का लंच शामिल है। नए नियम के तहत काम का समय अब सुबह 9.45 बजे से शाम 6.15 बजे तक हो जाएगा। इसमें दोपहर एक से दो बजे के बीच आधे घंटे का लंच शामिल होगा। हालांकि, सरकारी कर्मचारियों को सुबह 9.30 ही दफ्तर आना होगा।

यहां लागू नहीं होगा नियम

फैक्ट्री नियम व इंडस्ट्रियल डिस्प्यूट्स एक्ट के अंतर्गत आने वाले दफ्तरों तथा आवश्यक सेवाओं- पुलिस, दमकल, सरकारी कॉलेज, पॉलीटेक्निक कॉलेज, सफाईकर्मियों पर यह नियम लागू नहीं होगा।

साल में काम के दिन घटेंगे, लेकिन बढ़ जाएगी अवधि

बता दें, महाराष्ट्र में फिलहाल कर्मचारी साल में 288 दिन काम करते हैं। आधे घंटे का भोजनावकाश छोड़ दें तो वे रोजाना 7ः15, महीने में 174 व साल में 2088 घंटे काम करते हैं। हफ्ते में पांच दिन काम करने और काम की अवधि बढ़ाने के बाद कर्मचारी साल में 264 दिन, जबकि महीने में 176 और साल में 2112 घंटे काम करेंगे।

Post a Comment

0 Comments