Breaking News

फिल्म गदर में मासूम सा दिखने वाला यह बालक हो गया है काफी हैण्डसम, तस्वीरें कर देगी हैरान

साल 2001 में आई सनी देओल की फिल्म गदर एक प्रेम कथा ने बाॅक्स आॅफिस के कई रिकार्ड तोड़े थे। यह फिल्म भारत-पाक पर आधारित एक रोमेंटिक फिल्म थी। फिल्म में सनी देओल के एक्शन जहां लोगों को खूब पसंद आए थे तो वहीं फिल्म के सभी गाने सुपरहिट हुए थे। फिल्म में सनी देओल के साथ अमीषा पटेल थी। फिल्म में इन दोनों का एक बेटाा भी था। जो काफी मासूम एवं क्यूट दिखता था। 
फिल्म गदर में मासूम सा दिखने वाला यह बालक हो गया है काफी हैण्डसम, तस्वीरें कर देगी हैरान

फिल्म में इस मासूम से दिखने वाले बालक का रोल काफी अहम था। लोगों इस बच्चे के किरदार को खूब पसंद किया था। फिल्म में इस बालक ने गाने भी गुनगुनाए थे। इस नन्हें से बालक ने अपने शानदार अभिनय से लोगों को अपना दीवाना बना लिया था।

 इस बालक की छवि आज भी लोगों के दिलों दिमाग में बसी हुई हैं। लेकिन हम आपको बता दें कि यह बालक अब बालक नहीं रहा है। बल्कि यह काफी बड़ा हो गया हैं। जिसकी तस्वीरें देख आपको पहचानना मुश्किल हो जाएगा। क्योंकि अब यह मासूम नहीं बल्कि काफी हैण्डसम दिखता हैं। 
फिल्म गदर में मासूम सा दिखने वाला यह बालक हो गया है काफी हैण्डसम, तस्वीरें कर देगी हैरान

आपको बताते चले कि यह बालक कोई और नहीं बल्कि फिल्म डायरेक्टर अनिल शर्मा का बेटा उत्कर्ष शर्मा हैं। जब इन्होंने गदर फिल्म में यह रोल निभाया था तो वह 7 साल के थे। उत्कर्ष का जन्म 1994 में हुआ था। उत्कर्ष ने चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में गदर ही नहीं बल्कि कई फिल्मों में नजर आ चुके हैं। साल 2004 में आई फिल्म अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों में जूनियर कुणालजीत सिंह का भी किरदार निभाया हैं।


View this post on Instagram

A post shared by Utkarsh Sharma (@iutkarsharma) on
 उत्कर्ष अब काफी बदल गए हैं। वह अब 25 साल के हो चुके हैं। उन्होंने बालीवुड में डेब्यू एक्शन थ्रिलर फिल्म जीनियस से किया है। इस फिल्म में उनके साथ नवाजुद्दीन सिद्दीकी एवं मिथुन चक्रवर्ती साहब नजर आए थे। फिल्म को डायरेक्ट उनके पिता अनिल शर्मा ने किया था। उत्कर्ष ने चैपमैन यूनिर्वसिटी यूएसए से फाइन आर्ट प्रोडक्शन एवं डायरेक्शन से गु्रेज्युएशन किया है। 

बालीवुड से जुड़ी ऐसी ही रोचक जानकारी के लिए हमें फालो जरूर करें साथ ही कमेंट कर बताएं उत्कर्ष की एक्टिंग आपको कैसी लगी थी।

No comments