Breaking News

सनातन धर्म को जिसने बदनाम किया उन्हें ईश्वर भी माफ नहीं करेगा: दिग्विजय

भोपाल। God will not forgive those who maligned Sanatan Dharma: Digvijay : प्रदेश की राजधानी में मंगलवार को संत समागम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में प्रदेशभर से हजारों की संख्या में संत शामिल होने पहंुचे थे। इस दौरान प्रदेश के सीएम, धर्मस्व मंत्री पीसी शर्मा सहित प्रदेश कांग्रेस पार्टी के कई वरिष्ठ नेता कार्यक्रम के दौरान मंचासीन रहे।
सनातन धर्म को जिसने बदनाम किया उन्हें ईश्वर भी माफ नहीं करेगा: दिग्विजय


कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता व राज्य सभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कहा कि सनातन धर्म को जिन लोगों ने बदनाम किया है उन्हें ईश्वर भी माफ नहीं करेगा। आगे श्री सिंह ने कहा कि आज भगवा वस्त्रधारण करके लोग चूरण बेच रहे हैं बलात्कार कर रहे हैं। क्या यही हमारा धर्म है। भगवा वस्त्र धारण कर जो लोग ऐसे कृत्य कर रहे हैं उन्हें भगवान भी माफ नहीं करेगा। 

तब विवादों में घिरे दिग्विजय

बताते चले कि संत समागम कार्यक्रम के दौरान दिग्विजय सिंह तब विवादों में आ गए जब उन्होंने भगवा वस्त्र धारियों को मंदिरों में बलात्कार करने जैसा बयान दे दिया। इस बयान को लेकर भाजपा पदाधिकारियों ने उन पर जमकर हमला बोला और उन्हें हिन्दू एवं भगवा विरोधी करार दिया।



 इसके बाद दिग्विजय सिंह ने एक ट्वीट कर अपने बयान पर सफाई देते हुए लिखा कि हिन्दू संत हमारी सनातन आस्था का प्रतीक है। इसलिए उनसे उच्चतम आचरण की अपेक्षा है। अगर संत वेष में कोई गलत आचरण करता है तो उस पर आवाज उठानी चाहिए। सनातन धर्म जिसकी मैं स्वयं पाल करना हूं और इसकी रक्षा करना भी हमारा ही कर्तव्य है। 

श्री सिंह के बयान पर भड़के बीजेपी नेता प्रतिपक्ष

दिग्विजय सिंह द्वारा भगवाधारियों पर रेप व बलात्कार जैसे शब्दों के इस्तेमाल पर भाजपा के नेता प्रतिपक्ष भड़क गए और उन्होंने दिग्विजय सिंह पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस में कुछ ऐसे नेता है जिन्हें अनाप-शनाब बयान दिए बगैर उनका दिन नहीं कटता है। 

ये वहीं लोग है जिसके कारण कांग्रेस 400 से 52 पर आ गई है। श्री भार्गव ने आगे कहा कि दिग्विजय सिंह का हिन्दुओं और भगवा का अपमान करना आदत हो गई है। किसी के कर्म का रंग से कोई संबंध नहीं होता है। भगवा के सानिध्य में खड़े होकर उसी को बदनाम करना ये कहा कि बुद्धिमानी है। दिग्विजय सिंह के इसी तरह के बयान के चलते उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। दिग्विजय सिंह की बातों से लगता है कि इनकी बुद्धि में  दीमक लग गया है भगवान इन्हें बुद्धि दे। 

No comments