Breaking News

जहरीली गैस से दो भाइयों की मौत

रीवा। कुएं में घुसकर सफाई के लिए बोरवेल खोल रहे दो भाइयों की बोरवेल से निकली जहरीली गैस के संपर्क में आने से मौत हो गई और तीसरा भाई गंभीर है। घटना रीवा जिले के जवा जनपद के अकौरी गांव में शुक्रवार शाम 5 बजे की है। मृतकों में रामजी  37 वर्ष पिता रंगनाथ मिश्रा और बब्बू 32 वर्ष पिता रंगनाथ मिश्र वही कुएं के ऊपर बैठे रामजी का बेटा सोनू भी जहरीली गैस के चपेट में आ गयाए जिससे वह भी बेहोश हो गया। जिसे तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जवा अस्पताल मे भर्ती किया गया हैए जिसका इलाज चल रहा है ए लेकिन कोई सुधार नही हो पा रहा है।

जहरीली गैस से बुझ गए घर केे चिराग, मच गया हड़कंप
जवा थाना प्रभारी पवन शुक्ला ने बताया कि अकौरी गांव में रंगनाथ मिश्रा के दो बेटे रामजी और बब्बू और रामजी का बेटा सोनू तीनों शाम को खेत गए थे। वे कुएं में स्थित बोरवेल की सफाई करने के लिए गए थे। रामजी और बब्बू कुएं में उतरकर बोरवोल का पंप खोलकर सफाई कर रहे थे और रामजी का बेटा सोनू कुएं के ऊपर बैठा था।

पंप की सफाई के दौरान रामजी और बब्बू जहरीली गैस के संपर्क में आ गए और दोनों की कुएं के अंदर मौके पर ही मौत हो गई। इधर कुएं के ऊपर बैठा सोनू भी गैस की चपेट में आकर बेहोश हो गया। शाम करीब 5 बजे जब गांव का आदिवासी युवक बब्लू मवेशियों को चराकर वापस गांव लौट रहा था तो उसने देखा कि एक युवक कुएं के पास पड़ा है। उसने उसे हिलाया.डुलाया पर शरीर में कोई हरकत नहीं हुई।

फिर उसने कुएं में झांककर देखा तो दो लोग कुएं के अंदर पड़े थे। उसने शोर मचाया तो गांव के लोग और परिजन मौके पर पहुंच गए और पुलिस को सूचना दी। बेहोश सोनू को तत्काल जवा सामूदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया।

अंधेरा होने के कारण पुलिस ने लालटेन जलवाई जब देखा गया कि लालटेन नहीं बुझी तो माना गया कि गैस का प्रभाव कम हो गया है तब रस्सी के सहारे रामजी और बब्बू के शवों को कुएं के बाहर ग्रामीणों की मदद से निकाला गया। इसके बाद दोनों के शवों को ट्रैक्टर से पीएम के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जवा भेजा गया।

No comments