Breaking News

10 हजार की रिश्वत लेते उपयंत्री को लोकायुक्त ने रंगे हाथ पकड़ा

रीवा।  लोकायुक्त पुलिस द्वारा गुरूवार को  दस हजार की रिश्वत लेते हुये एक उपयंत्री को  रंगे हाथ पकड़ा है। बताया गया है कि उपयंत्री पुलिस हाउसिंग बोर्ड में पदस्थ था। शिकायतकर्ता प्रकाश पटेल आत्मज श्रीनिवास पटेल ठेकेदार निवासी ग्राम सोनौरा द्वारा पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त को इसआशय की शिकायत की गई थी कि मनगवां एवं लौर थाना परिसर में महिला डेस्क का निर्माण करवाया जा रहा है।
10 हजार की रिश्वत लेते उपयंत्री को लोकायुक्त ने रंगे हाथ पकड़ा

 किन्तु पुलिस हाउसिंग बोर्ड में पदस्थ उपयंत्री अलोक पाण्डेय द्वारा कराये गये पूर्व के कार्य की राशि 1,35,276 रूपये के भुगतान के लिये 8 प्रतिशत की दर से 11 हजार रिश्वत की मांग कर रहा है। वह रिश्वत देना नहीं चाहता है बल्कि उसे पकड़वाना चाहता है। बताया गया है कि शिकायत की पुष्टि करवाई गई जहां उपयंत्री द्वारा 10 हजार की रिश्वत मांगने की पुष्टि की गई। इसके बाद ट्रेप की कार्रवाई की गई जहां शिकायकर्ता से 10 हजार रूपये लेते हुये उपयंत्री को रंगे हाथ पकड़ लिया गया।

 आरोपी के विरूद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया। आरोपी उपयंत्री अलोक पाण्डेय पुत्र राजेश्वर प्रसाद पाण्डेय उम्र 28 वर्ष निवासी पकरा ने मिश्रा पेट्रोल पंप के पास  दस हजार की रिश्वत लेते पकड़ा गया। बताया गया है कि वह पुलिस हाउसिंग में वर्ष 2017 से पदस्थ है। ट्रेप की कार्रवाई पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र कुमार वर्मा के मार्गदर्शन में निरीक्षक अरविंद कुमार तिवारी द्वारा अपने स्टाप के साथ  की गई। 

No comments