Breaking News

भाजपा विधायकों को प्रलोभन दे रही है कांग्रेस : प्रदेशाध्यक्ष

भोपाल। मप्र भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने गुरुवार को कांग्रेस सरकार पर भाजपा विधायकों को लालच देने के आरोप लगाए। उन्होंने कहा, कांग्रेस भाजपा के विधायकों को प्रलोभन दे रही है। अपनी गुटबाजी और हताशा को कम करने के लिए कांग्रेस जो कोशिश रही है। ये उनके लिए आत्मघाती न हो जाए। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि भाजपा विधायक एकजुट थे, एकजुट हैं और रहने वाले हैं। वह चट्टान की तरह पार्टी के साथ खड़े हैं।
भाजपा विधायकों को प्रलोभन दे रही है कांग्रेस : प्रदेशाध्यक्ष

राकेश सिंह ने गुरुवार को सदस्यता अभियान की बैठक में भाग लेने से पहले मीडिया से बातचीत में ये बात कही। मध्यप्रदेश विधानसभा में भाजपा के दो विधायकों ने पिछले दिनों मत विभाजन में सरकार का समर्थन किया था। इसके बाद से प्रदेश में सरकार और विपक्ष एक-दूसरे पर हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं। उधर राकेश सिंह ने कहा कि भाजपा के कई विधायकों ने प्रदेश संगठन से शिकायत की है कि कांग्रेस उनसे संपर्क कर प्रलोभन दे रही है। वहीं, दूसरी तरफ जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि भाजपा के कई विधायक बाउंड्री वाल पर खड़े हैं। जो विधायक कांग्रेस में आना चाहते हैं, उनका स्वागत है। सदस्यता अभियान के शुभारंभ के मौके पर विधानसभा में मत विभाजन के दौरान पाला बदलने वाले भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी और शरद कोल नहीं पहुंचे हैं। भाजपा ने दोनों विधायकों को बुलाया था। हालांकि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने दावा किया है कि उन्होंने पहले सूचना दे दी थी कि वह किन्हीं कारणों से बैठक में नहीं आ पाएंगे।  बैठक में प्रदेश भर से पार्टी ने सभी सांसदों-विधायकों, सभी जिलाध्यक्ष, सदस्यता प्रभारी सहित प्रदेश पदाधिकारी और मोर्चे के अध्यक्ष व महामंत्रियों को बुलाया है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा कि भाजपा मध्यप्रदेश को केंद्रीय नेतृत्व ने सदस्यता का जो लक्ष्य दिया था। वह सभी जिलों में लगभग पूर्णता की ओर है। 9 अगस्त से 11 अगस्त के बीच चलने वाले विशेष सदस्यता अभियान में हम निर्धारित लक्ष्य से आगे बढ़कर सदस्य बनाएंगे। इसके लिए एक मजबूत कार्ययोजना के साथ हर जिले में काम करना है। गुरूवार को सदस्यता अभियान की समीक्षा एवं सक्रिय सदस्यता अभियान की बैठक में उन्होंने ये बात कही। राकेश सिंह ने कहा कि कांग्रेस पूरी तरह बिखरी हुई है। पार्टी अब तक के सबसे बुरे दौर से गुजर रही है। कांग्रेस के भीतर ही राष्ट्रीय अध्यक्ष को लेकर अलग-अलग मांगे उठ रही है। कुछ राहुल गांधी तो कुछ प्रियंका तो कुछ तीसरा नाम ले रहे है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में सरकार वेंटिलेटर पर है और यही कारण है कि वह भ्रम का वातावरण फैलाने का कुत्सित प्रयास कर रही है।
प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि हमें कांग्रेस द्वारा फैलाए जा रहे भ्रम की ओर ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है। हमें उंचे मनोबल के साथ काम करते रहना है। पूरी ताकत के साथ सदस्यता अभियान में जुटे और जो लक्ष्य निर्धारित किया है, उस लक्ष्य के आगे बढ़कर सदस्य बनाएं। सिंह ने कहा कि जितने दिन यह सरकार चल रही है उतने दिनों तक प्रदेश की जनता के मन में सरकार के प्रति आक्रोश पैदा होगा। यह आक्रोश दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। इससे पहले श्योपुर से भाजपा विधायक सीताराम आदिवासी ने कांग्रेस पर खरीद फरोख्त के आरोप लगाए थे। उनके मुताबिक कांग्रेस पार्टी ने उन्हें भाजपा छोडऩे के लिए पैसों का लालच दिया है। उन्होंने कहा, कांग्रेस के कुछ लोगों ने मुझसे संपर्क साधा और कहा कि वो मुझे जो चाहे, वह देंगे। लेकिन मैंने साफ कर दिया कि मैं आदिवासी और गरीब जरूर हूं, लेकिन बिकाऊ नहीं हूं। मैं भाजपा के साथ ही रहूंगा।

No comments