Breaking News

संविदाकर्मियों को कमलनाथ सरकार ने दिया तोहफा, सभी संविदाकर्मी होंगे वापस

भोपाल। मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार एक बड़ा तोहफा जल्द ही संविदाकर्मियों को देने जा रही है। गुरूवार को आयोजित एक बैठक में मप्र के सीएम कमलनाथ ने यह निर्णय लिया है कि सभी निकाले गए संविदाकर्मियों अब हम वापस लेंगे। साथ ही उन्होंने उनके वेतन, पदों की स्थिति, अन्य पदों पर मर्ज करने तथा दूसरे प्रोजेक्ट पर इनकी सेवाएं लेने सहित कई अन्य बिन्दुओं दिशा-निर्देश जारी किए हैं। बैठक के दौरान महिला बाल विकास, स्वास्थ्य विभाग के अलावा कई अन्य विभाग के अफसर मौजूद थे।
संविदाकर्मियों को कमलनाथ सरकार ने दिया तोहफा, सभी संविदाकर्मी होंगे वापस

 मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सभी संविदाकर्मियों को नियमित करने के साथ ही 90 फीसदी वेतन देने के निर्देश दिए हैं। वहीं इन संविदाकर्मियों का नियमित पदों में मर्जर के भी निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा किसी भी संविदाकर्मी को अब निकाला नहीं जाएगा। संबंधित प्रोजेक्ट खत्म होने की सूरत में दूसरे प्रोजेक्ट में इनकी सेवाएं ली जाएंगी।
 मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि लंबे वक्त तक सेवा देने वाले अधिकारी कर्मचारी को हटाना गलत है। अधिकारियों ने बताया कि केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत संविदा पर अधिकारी कर्मचारी रखे जाते रहे हैं, लेकिन जब अवधि समाप्त हो जाती है तो फिर भुगतान की समस्या खड़ी हो जाती है। ऐसे में उन्हें बरकरार रखना संभव नहीं हो पाता है। मुख्यमंत्री ने इसका रास्ता निकालने के निर्देश बैठक में दिए। साथ ही कहा कि और भी संविदा कर्मियों से जुड़ी जो भी समस्याएं हैं उन पर विचार करें। इस मामले पर अगले हफ्ते फिर बैठक होगी।
बैठक में यह बात भी आई कि सामान्य प्रशासन विभाग की संविदा नीति के तहत जब तक संविदा कर्मियों का नियमितीकरण नहीं हो जाता है तब तक उन्हें समकक्ष नियमित पद के न्यूनतम वेतनमान का 90 फीसदी देने का प्रावधान है इस प्रावधान को लागू किया जाए बैठक में बताया गया कि सिर्फ 10000 कर्मचारियों को ही या लाभ मिल रहा है।

No comments