Breaking News

सिरमौर के पूर्व विधायक को एक साल का कारावास

रीवा। सिरमौर विधानसभा के पूर्व विधायक रामलखन शर्मा को जिला एवं सत्र न्यायालय प्रथम श्रेणी न्यायाधीश ने 11 वर्ष पुराने मामले में दोषी मानते हुए 1 साल का सश्रम कारावास व 1500 रूपए के अर्थदण्ड  से दण्डित किया है। श्री शर्मा के विरूद्ध धारा 144 का उल्लंघन करने पर वर्ष 2008 में शहर के सिविल लाइन थाना में मामला दर्ज किया गया था। 

क्या था मामला

साल 2008 में 6 नवम्बर को कलेक्ट्रेट परिसर में निर्वाचन का कार्य चल रहा था। जहां पर प्रत्याशियों के साथ महज 4 लोगों को अंदर जाने की अनुमति थी। लेकिन सिरमौर विधानसभा सीट से प्रत्याशी रहे रामलखन शर्मा पुत्र रामबालक शर्मा निवासी बदरांव अपने 6 समर्थकों के साथ अंदर जाने की बात को लेकर अड़ गए थे। जिस पर उन्हेंं पुलिस द्वारा रोकने का प्रयास किया गया, लेकिन वह नहीं माने। 10 नवंबर 2008 को सब इंस्पेक्टर प्रशांत सेन के आवेदन पर राम लखन शर्मा के विरुद्ध सिविल लाइन थाने में अपराध पंजीबद्ध किया गया।

गिरफ्तारी वारंट जारी

बताया जा रहा है कि कोर्ट में चल रही सुनवाई के दौरान रामलखन शर्मा मौजूद नहीं थे। लिहाजा न्यायालय ने सजा सुनाने के साथ ही उनके विरुद्ध गिरफ्तारी वारंट भी जारी कर दिया है। 
इनका कहना है...
राम लखन शर्मा के विरुद्ध धारा 144 के उल्लंघन का अपराध पंजीबद्ध किया गया था। 11 वर्ष तक चली लम्बी सुनवाई के बाद माननीय विद्वान न्यायाधीश ने उन्हें दोषी पाया। उन्हें 1 वर्ष का सश्रम कारावास व 15 सौ के अर्थदंड से दंडित किया गया है।
-मोहम्मद अफजल खान, सहायक लोक, अभियोजक रीवा

No comments