Breaking News

एम्बुलेंस से ले जाया जा रहा था गांजा, टोलप्लाजा में पकड़ाया

एम्बुलेंस आई गांजा की खेप पुलिस को नहीं लगी भनक
रीवा। पुलिस की नजरों से बचने तस्कर नाना प्रकार के तरीके अपनाते हैं। कभी ट्रक में फल या नारियल के नीचे गांजा छिपा कर लाते हैं तो कभी ट्रक में ही गोपनीय केबिन बनवा कर उसमें छिपा कर लाते है। कुछ तस्कर को गांजा लाने के लिए व्हीआईपी कार का उपयोग करते है। कभी उसमें किसी पार्टी का झंडा होता है तो कभी नबंर प्लेट में सरकारी विभाग का तमगा लगा होता है। लेकिन शनिवार को गांजे की एम्बुलेंस मिली, वह भी छग की। पुलिस को चकमा देते हुए फिल्मी अंदाज में व्हीआईपी एम्बुंलेस क्रमांक सीजी 04 एलयू 5034 में गांजा की खेप छग से रीवा तक आ गई जिसकी भनक रीवा पुलिस तक को नहीं लगी। 

जबकि हाल ही में रीवा की सिविल लाइन पुलिस उड़ीसा से आ रही गांजे की खेप शहडोल जिला से रीवा के लिए पार करते ही पकड़ लिया। दो कार के साथ 85 किलो गांजा और शातिर तस्करों को धर दबोचा। लेकिन शनिवार की रात छत्तिसगढ़ से आ रहे गांजे के खेप की भनक रीवा पुलिस को न लगना पुलिस की कार्य प्रणाली पर प्रश्नचिन्ह लगाता है। बताते चले कि छग से एम्बुलेंस से आ रही गांजे की खेप पडऱा दीनदयाल धाम कालोनी स्थित डिपार्टमेंट ऑफ रेवन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआई) टीम ने शनिवार की रात रायपुर कर्चुलियान थाना अंतर्गत जोगिनहाई के पास पकड़ ली। हलांकि कार्रवाई करने वाली टीम अभी कुछ भी कहने को तैयार नहीं है और चल रही कार्रवाई में मीडिया से दूरी बनाये हुए है।   बताया जाता है डीआरआई टीम ने एम्बुलेंस में सवार चार आरोपियों को पकड़ कर उनसे एक क्विंटल गांजा बरामद किया है। इस संबंध में जब डीआरआई के सहायक आयुक्त से बात करनी चाही तो उन्होंने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया। एसपी आबिद खान ने बताया कि शनिवार को डीआईआर टीम ने पुलिस से मदद मांगी थी, जिस पर पुलिस टीम मुहईया करवा दी गई थी। 

No comments