Breaking News

दो माह में ही प्रदेश का बंटाधार : शिवराज

रीवा। मप्र सरकार का गठन हुए लगभग दो माह का समय अभी हुआ है और प्रदेश के जो हालत बने हुए हैं उससे यह साफ जाहिर है कि प्रदेश की सरकार विफल है और प्रदेश का बंटाधार हो गया है। यह बातें अल्प प्रवास पर रीवा पहुंचे मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राजनिवास में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही हैं। प्रदेश के हालात पर वे अपने तीखे तेवर के बीच कहा कि सरकार अपनी जिम्मेदारी पर खरा उतरे अन्यथा हम प्रदेश की खुशहाली और जन मानस की रक्षा करने के लिए हर स्तर से लड़ाई लड़ने के लिए खड़े होंगे और जरूरत पड़ी तो सड़क पर भी भाजपा उतरेगी। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री पर भी सवाल उठाया और कहा कि प्रदेश को सुपर सीएम चला रहे हैं और एक बार फिर प्रदेश में बंटाधार का यू टर्न हो गया है। उन्होंने बिना नाम लिए हुए कहा कि मंत्रियों को डाट फटकार उनके कामकाज पर सुपर सीएम लगा रहे हैं। हालांकि इस दौरान उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया और कहा कि यह सरकार रिमोर्ट से चल रही है। यह प्रदेश के लिए अच्छे संकेत नहीं है।
Old CM MP Shivraj singh chaouhan and old minister mp rajendra shukla

कानून व्यवस्था 
प्रदेश की कानून व्यवस्था पर शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 50 दिन में 6 हजार लूट की वारदातें हुई हैं। हर दिन 5 हत्याएं हो रही हैं। चोरी, राहजनी के आंकड़े आम आदमी को भयभीत कर रहा है। चित्रकूट में दो मासूम भाईयों को श्रेयांस और प्रियांस का अपरण करके उनकी हत्या कर दी गई और सरकार के मुख्यमंत्री और गृह मंत्री ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। पुलिस ब्रीफ करती रही। उन्होंने कहा कि हमारे कार्यकाल में ऐसा नहीं होता था। सत्ता सम्हालने के बाद हमने साफ कर दिया था कि 6 माह में डकैतों का खात्मा होना चाहिए और यही वजह रही कि डकैतों का या तो खात्मा हुआ या तो उन्होंने समर्पण कर दिया और जो बचे थे प्रदेश को छोड़ने के लिए मजबूर हो गए थे।
तबादला उद्योग 
प्रदेश सरकार के स्थानांतरण पर पूर्व मुख्यमंत्री ने तीख्ाी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश में तबादला उद्योग चल रहा है। आए दिन लम्बी सूची तबादले की प्रकाशित हो रही है। उन्होंने कहा कि इस तबादले के चलते प्रदेश की व्यवस्था अस्त-व्यस्त हो गई है। काम करने वाले अधिकारी-कर्मचारी तबादले को लेकर विचलित हैं। यह तबादला सूची कौन तैयार कर रहा और इसे कौन करवा रहा इसका खुलासा होना चाहिए।
कर्ज माफी
कांग्रेस सरकार की कर्जमाफी पर शिवराज सिंह चौहान ने सवाल उठाए हैं और उन्होंने कहा कि कर्जमाफी के नाम पर महज किसानों को छला जा रहा है। उन्हीं की जमा पूंजी को कर्जमाफी का नाम दिया जा रहा है। सरकार से जब हमने पूछा कि कर्जमाफी के लिए बजट कहां से आएगा तो उनके पास कोई जवाब नहीं है। सरकार पहले बजट का प्रावधान बनाए और फिर किसानों की कर्जमाफी की बात करें। महज रंग-बिरंगे फार्म भरवाकर किसानों को छलने का काम सरकार को बंद करना होगा।
हम बना लेते सरकार
प्रेसवार्ता के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री ने आत्मविश्वास से भरी बातों के बीच कहा कि जो जनमत प्रदेशवासियों ने दिया था उसके आधार पर हम सरकार बनाने की स्थिति में थे और चाहते तो सरकार बना लेते। चूंकि कांग्रेस के विधायक ज्यादा थे। ऐसे में हमने स्तीफा देकर उन्हें सरकार बनाने के लिए सीट छोड़ दिया था। इस दौरान उन्होंने विंध्य में भाजपा को मिली ऐतिहासिक जीत पर प्रसन्न्ता व्यक्त करते हुए कहा कि जब वे विंध्य की धरती पर और रीवा में उतरे तो प्रसन्न्ता और आनंद से प्रफुल्लित हो उठे। यहां के लोगों ने भाजपा को अपना पूरा-पूरा आर्शिवाद दिया है और विकास के लिए भाजपा सरकार से हर स्तर की लड़ाई लड़ेगी।
पूर्व मुख्यमंत्री का हुआ स्वागत
रेवांचल ट्रेन से रीवा पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का रेलवे स्टेशन से राजनिवास तक भाजपा के लोगों ने आत्मीय स्वागत किया। इस दौरान पूर्व मंत्री व रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ला, सांसद जनार्दन मिश्रा, विधायक केपी त्रिपाठी, गिरीश गौतम, महापौर ममता गुप्ता सहित भाजपा के अन्य विधायक व पार्टी के पदाधिकारी मौजूद रहे।  

No comments