Breaking News

51 हजार रूपए का चेक देकर प्रभारी मंत्री ने दिया आर्शिवाद, एसएएएफ मैदान में हुआ सामूहिक विवाह और निकाह

रीवा। लगभग 1500 वर-वधू के लिए सोमवार का दिन जीवन के एक नई शुरूआत करने का दिन साबित हुआ और वर-वधू ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच एक-दूसरे का वरण करके जहां विवाह बंधन में बंध गए है वहीं मप्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत वर-वधू को जिले के प्रभारी मंत्री लखन घनघोरिया ने उपहार के रूप में सरकार की तरफ से 51 हजार स्र्पए का चेक देकर उन्हें गृहस्थ जीवन की शुरूआत करने का आर्शिवाद भी दिया। जिलेभर से शामिल हुए वर-वधू में इस विवाह को लेकर उत्साह रहा। एसएएफ मैदान में आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम किसी जलसे से कम नहीं था। प्रशासन की तरफ से इस विवाह को आयोजित करने के लिए सभी व्यवस्थाएं बनाई गई थी। भव्य पण्डाल के साथ गांजा-बाजा सहित भोजन आदि की भी व्यवस्था की गई थी। विवाह में शामिल हुए वर-वधू पक्ष के लोगों ने भी इस आयोजन में अपनी सहभागिता निभाते हुए कार्यक्रम में शामिल हुए।
rewa-Kanya-Vivah-yojna
महिलाएं गा रही थी मंगल गीत
सामूहिक विवाह कार्यक्रम के दौरान विवाह बेदी पर बैठे वर-वधू के महिला परिजन विवाह के समय गाए जाने वाले मंगल गीत को गाती हुई नजर आई और वे इस विवाह को लेकर उत्साहित रही। तो वहीं प्रशासन द्वारा बनाई गई एसएएफ मैदान में विवाह बेदी में वर-वधू 7 फेरे लिए हैं। गायत्री परिवार के पंडितों द्वारा विवाह संबंधी मंत्रोच्चार लाउड स्पीकर के माध्यम से किया गया और उनके उच्चारण के हिसाब से वर-वधू विवाह की सभी रस्म पूरी किए हैं। इस बार विवाह को लेकर ज्यादा उत्साह था। कारण यह कि वर-वधू को गृहस्थी सवारने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा उपहार दो गुना बढ़ा दिया गया है। इसके पूर्व 25 हजार स्र्पए मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत दिए जाते थे और उसमें गृहस्थी का सामान शासन-प्रशासन द्वारा दिया जाता था जबकि इस वर्ष मुख्यमंत्री कमलनाथ ने गृहस्थी समान देने की बजाय वर-वधू के खाते में 51-51हजार स्र्पए सीधे दिए हैं। रकम दो गुना होने के कारण विवाह में ज्यादा उत्साह रहा। हालांकि वर-वधू को अभी रकम नहीं मिल पाई थी जिसके चलते अपने खर्च से ही वर शूटबूट तथा कन्या विवाह का जोड़ा घर से पहनकर विवाह करने कार्यक्रम स्थल पहुंचे थे।
सरकार कन्या का करा रही धूमधाम से विवाह
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रहे प्रदेश शासन के मंत्री और जिले के प्रभारी लखन घनघोरिया ने सामूहिक विवाह कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में वर-कन्याओं को आर्शिवाद देने के साथ ही कहा कि किसी भी कन्या का विवाह न रूके और धूमधाम से विवाह हो यह सबसे पहले सरकार ने सोचा है। यही वजह रही कि कुर्सी सम्हालने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने विवाह योजना को प्राथमिकता से लिया और उन्होंने विवाह के लिए 51 हजार स्र्पए की राशि को मंजूरी दी थी। किसी भी कन्या का धूमधाम से विवाह हो जाए और वह खुशी-खुशी अपना गृहस्थ जीवन सवार इससे अच्छा सरकार के लिए और क्या होगा। यही वजह है कि विवाह को लेकर सरकार गंभीर है और विवाह का खर्च सरकार स्वयं उठा रही है तो वर-वधू को गृहस्थी सवारने के लिए सरकार रकम भी दे रही है।
विद्युत उपकेन्द्र का किया लोकार्पण
रीवा प्रवास के दौरान जिले के प्रभारी मंत्री लखन घनघोरिया ने आयुर्वेद कालेज परिसर में बिजली विभाग द्वारा तैयार किए गए उपकेन्द्र का लोकार्पण किया है। बताया जा रहा है कि 2.3 करोड़ रूपए की लागत से बनकर तैयार हुए उपकेन्द्र से शहर का निपनिया और रतहरा रहवासी क्षेत्र जगमग रहेगा। मंत्री ने बटन दबाकर बिजली देने का काम किया है। इस दौरान आयोजित मंचासीन कार्यक्रम में उन्होंने सरकार की योजनाओं पर चर्चा करते हुए कहा कि किसी भी गरीब परिवार का घर अंधेरे में नहीं रहेगा और सरकार ने इंदिरा ज्योति योजना की शुरूआत की है। 100 स्र्पए में उसे बिजली मिलेगी।

No comments