Breaking News

Pulwama Attack : सोशल मीडिया द्वारा इमरान ने भारत को चेताया, लिखा पाकिस्तान से पंगा मत लेना

गत दिनों जम्मू काश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान पर उठ रही उंगली पर मंगलवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोशल मीडिया के माध्यम से भारत को धमकी देते हुए चेताया है। पोस्ट में उन्होंने लिखा है कि पाकिस्तान से पंगा मत लेना। पुलवामा में हुए आतंकी हमले पर पाक का हाथ नहीं है। पाकिस्तान आतंकवादी मुद्दे पर हमेशा बातचीत करने को तैयार है। आगे उन्होंने लिखा है कि हमशे न टकराना। अगर भारत युद्ध करता है तो हम चुप नहीं बैठेंगे।
Pakistan-pm-said-pulwama attck

 युद्ध शुरू करना तो आसान है, लेकिन खत्म करना इतना आसान नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि भारत में आगे चुनाव होने है और पाक पर आतंकवाद जैस इल्जाम लगाने से वोट मिल जाएंगे। इमरान ने कहा कि भारत आतंकियों के हमें सबूत दे हम कार्रवाई करेंगे। आतंकवाद से सबसे ज्यादा नुकसान पाकिस्तान को हुआ है। उन्होंने कहा कि युद्ध समस्या का हल नहीं है बातचीत से समस्या का हल निकाला जा सकता है। हम स्थायित्व चाहते है पाकिस्तान को आतंकियों के हमले से कोई लाभ नहीं होगा।
सबूत पर विदेश मंत्रालय का जवाब
पाक पीएम इमरान खान के सबूत दें हम करेंगे कार्रवाई पर भारतीय विदेश मंत्रालय द्वारा जवाब दिया गया है कि हम पठान कोट हमला और मुम्बई में हुए आतंकी हमले का पूरा सबूत पाकिस्तान को दे चुके हैं, लेकिन पाकिस्तान द्वारा आज तक इन आतंकियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। बता दें कि आंतकियों से हमारा कोई नाता नहीं इसकी राग पाकिस्तानी हमेशा से अलापते आए हैं। जबकि हमले की जिम्मेदारी लेने वाला जैश ए मुहम्मद का सरगना मसूद अजहर पाक में ही रहता है और उस पर कार्रवाई के उचित सबूत भी है, लेकिन पाकिस्तान उस पर कार्रवाई नहीं करता। पाकिस्तान आतंकवाद पीड़ित नहीं बल्कि पूरी दुनिया जानती है कि पाकिस्तानी आतंकवादियों का केन्द्र बिन्दु है। पाकिस्तान को चाहिए इन आतंकियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करे, लेकिन पाकिस्तान कार्रवाई के बजाय उल्टा इन्हें शरण देता व इनके साथ सार्वजनिक स्थानों पर सभा करता है।
महबूबा ने की वकालत
जम्मू काश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री व पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने पाक पीएम की वकालत करते हुए उन्हें एक और मौका दिए जाने की बात कही। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि इमरान पाक की अभी हाल ही में सत्ता सम्हाली है, लिहाजा उन्हें एक मौका दिया जाना चाहिए। उन्होंने लिखा कि पठानकोट हमले में पाकिस्तान को डोजियार दिया गया था, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। जरूरत है कि पाकिस्तान की कथनी और करनी एक हो।

No comments