Breaking News

बढ़ती शिकायतों को निपटाने पुलिस ने लगाई महाजन सुनवाई, 125 का हुआ समुचित समाधान

रीवा। मुख्यमंत्री ऑन लाइन में पुलिस विभाग की बढ़ती शिकायतों और लंबित मामलों का निपटारा करने के लिए मंगलवार को वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर पुलिस कन्ट्रोल रूम में महाजन सुनवाई शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें पुलिस कप्तान आबिद खान ने लंबित शिकायतों सहित प्राप्त आवेदनों पर सुनवाई करने के साथ ही मौके पर ही संबंधित थानों के थाना प्रभारियों एवं अन्य पुलिस अधिकारियों को तलब करके निराकरण करने का प्रयास करने में लगे रहे। इस महाजन सुनवाई को लेकर आवेदकों में भी उत्साह दिखा। हालांकि दूरस्त अंचल के थाना क्षेत्रों के स्टॉल में आवेदकों की संख्या कम रही। जबकि शहरी थाना क्षेत्रों सहित आसपास के थाना क्षेत्र के शिकायतकर्ता ज्यादा संख्या में पहुंचे थे। वे अपना आवेदन पत्र पुलिस कप्तान के समक्ष पेश करने के साथ ही शिकायत से रूबरू भी करा रहे थे। तो वहीं संबंधित अधिकारियों को बुलाकर एसपी के द्वारा की गई कार्रवाई सहित अन्य जानकारी लेने के साथ ही उन्हें निर्देश भी दिए गए। 
2348 हैं लंबित शिकायतें
पुलिस विभाग की मुख्यमंत्री ऑन लाइन में 2348 शिकायतें लंबित हैं। जिसमें 1, 2, 3 और 4 लेबल की शिकायतें शामिल हैं। इस महाजन सुनवाई में 290 शिकायतें एसपी के समक्ष पहुंची है जिसमें से सीएम हेल्प लाइन की 43 शिकायतों का एसपी के द्वारा निराकरण किया गया है। तथा 82 शिकायतों का समुचित समाधान किया गया है। साथ ही अन्य शिकायतों को जांच में लेने के साथ ही समझाइश व उन्हें मार्गदर्शन अधिकारियों के द्वारा दिया गया है। 
इस तरह की रही शिकायतें
मुख्यमंत्री ऑन लाइन में पीड़ित पक्षों द्वारा जो शिकायतें की गई थी उनमें जमीन संबंधी शिकायतों का निराकरण न होने। आवेदन पत्र देने के बाद भी उस पर कार्रवाई न किए जाने सहित अन्य तरह की शिकायतें शामिल रही। यही वजह रही कि पुलिस कन्ट्रोल रूम में जिले के 30 थानों के थाना प्रभारियों की अलग-अलग स्टाल लगाई गई थी और लंबित 2300 से ज्यादा शिकायतों का निराकरण करने के लिए संबंधित थाना के थाना प्रभारियों द्वारा शिकायतकर्ताओं को महाजन सुवाई में पहुंचने के लिए सूचना दी गई थी। हालांकि जिस तरह से कम संख्या में लोग पहुंचे उससे यह माना जा रहा है शिकायतकर्ताओं को समय पर इसकी जानकारी न मिल पाने तथा दूरस्त क्षेत्र होने के कारण वे महाजन सुनवाई में शामिल नहीं हो पाए। जरूरत इस बात रही कि इस तरह की सुनवाई के लिए ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार किया जाना चाहिए और शिकायतकर्ताओं को बुलाया जाना चाहिए। ज्ञात हो कि लंबित शिकायतों को लेकर पुलिस विभाग की किरकिरी हो रही थी। यही वजह रही कि महाजन सुनवाई करके सीएम हेल्प लाइन के लंबित प्रकरणों को निराकृत करने की एक पहल पुलिस विभाग द्वारा की गई। 
कलेक्ट्रेट में 145 पर हुई सुनवाई
कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जन सुनवाई में जिला पंचायत के  मुख्य कार्यपालन अधिकारी मयंक अग्रवाल तथा अपर कलेक्टर बीके  पाण्डेय ने 145 आवेदन पत्रों में सुनवाई की। जन सुनवाई में तीन प्रकरणों का मौके  पर निराकरण किया गया। जन सुनवाई में विश्र्वविद्यालय रोड रीवा निवासी दुइजी साकेत के  वृद्धावस्था पेंशन के  आवेदन पत्र को ऑनलाइन दर्ज कर मंजूरी दी गई। अब उन्हें हर माह तीन सौ रूपये की वृद्धावस्था पेंशन उनके  बैंक खाते में प्राप्त होगी। जन सुनवाई में सीमांकन, बंटवारा, अतिथि शिक्षक नियुक्ति, मजदूरी भुगतान, भू अर्जन, उपचार सहायता, पेंशन भुगतान, अतिक्रमण तथा आवास योजना से संबंधित प्रकरणों की सुनवाई की गई। जन सुनवाई में अपर कलेक्टर आईजे खलखो, संयुक्त कलेक्टर केके  पाठक, डिप्टी कलेक्टर फरहीन खान तथा संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे। 

 

No comments