Sunday, June 26, 2022

hindinews11

HomeUncategorizedपुलिस ने पकड़ा 40 किलो गांजा, 12 पेटी शराब व 95 हजार...

पुलिस ने पकड़ा 40 किलो गांजा, 12 पेटी शराब व 95 हजार नगदी

 रीवा। नईगढ़ी थाना क्षेत्र में ऐसा कोई गांव नहीं है,जहां नशे का कारोबार न हो। ऐसा भी नहीं कि पुलिस को इस बात की जानकारी नहीं है। लेकिन धन लक्ष्मी के आगे नईगढ़ी पुलिस बेबस है। आश्चर्य की बात तो यह है कि कई बार आबकारी अमले ने थाना से चंद कदम दूर दबिस देकर भारी मात्रा में कच्ची शराब पकड़ कर पुलिस को बेनकाब किया है। मजे की बात तो यह है कि गुरुवार के दिन नईगढ़ी पुलिस को जो झटका लगा वह कोई और नहीं विभाग के ही प्रशिक्षु डीएसपी राजीव पाठक थाना प्रभारी मऊगंज ने दिया। डीएसपी श्री पाठक की इस कार्रवाही से तो यह तय माना जाता है कि वह जहां भी रहे अपनी जमीनी नेटवर्क तैयार किये। चाहे वह रीवा के शातिर अपराधी हो या फिर नईगढ़ी, मऊगंज के।  
पुलिस ने पकड़ा 40 किलो गांजा, 12 पेटी शराब व 95 हजार नगदी
नईगढ़ी पुलिस को इस बात की भनक भी नहीं लगी कि उनके थाना क्षेत्र के ग्राम फूल खटखरी में मऊगंज पुलिस ने दबिस दे दी। जब कार्रवाही हो गई और डीएसपी ने भारी मात्रा में गांजा और शराब सहित नगदी बरामद की तब नईगढ़ी पुलिस को जानकारी लगी और मौके पर आकर अपनी उपस्थिति दर्ज करवा ली। मिली जानकारी के अनुसार मुखबिर की सूचना पर प्रशिक्षु डीएसपी राजीव पाठक थाना प्रभारी मऊगंज ने अपने पुलिस बल के साथ नईगढ़ी थाना अंर्तगत ग्राम खटखरी में दबिस दी। सूचना मिली कि खटखरी सरपंच के घर गांजे की खेप उतरी है। गांजा की तलास में पहुंची पुलिस को देख कर घर में मौजूद सभी एक नाबालिग लड़के को छोड़ कर पीछे के दरवाजे से भाग निकले। जिसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया। पूछतांछ के दौरान बाल अपचारी ने पुलिस को उस स्थान तक पहुंचाया जहां नशे का भंडारण किया गया था। पुलिस ने बताया कि गांजे की खेप आरोपी के घर में भूसे में गड़ी मिली। दो बोरो में गांजा भरा हुआ था जो एक-एक किलो का पैकेट था। वजन में पुलिस ने बताया कि जब्त हुआ गांजा लगभग 40 किलो है। इसी प्रकार पुलिस ने बाल अपचारी की निशानदेही में घर के तहखाने की तलासी ली। जिसमें 12 पेटी शराब पाई गई। बाल अपचारी के ही बताये अनुसार पुलिस ने गांजा एंव शराब बिक्री से आये 90 हजार रुपये पुलिस ने जब्त किये। मऊगंज पुलिस की इस कार्रवाही से नईगढ़ी क्षेत्र में हड़कंप मच गया। 
पुलिस ने खरीदा था 100 रुपये का गांजा
मुखबिर की सूचना को पुष्टि करने के लिए पुलिस ने आरोपी के घर से खरीददारी करवाई। बताया कि अपने एक पुलिस कर्मी को डीएसपी ने सौ रुपये देकर आरोपी से गांजा खरीदवाया। गांजा खरीदने गया पुलिसकर्मी आरोपी के घर के नक्से और वहां की स्थित को अपनी नजर में कैद कर प्रशिक्षु डीएसपी राजीव पाठक को बताया। मौका न गंवाते हुए पुलिस टीम आरोपी के घर को घेर ली। लेकिन पुलिस के आने की भनक लगते हुए आरोपी घर छोड़ कर भागने में कामयाब हो गये।  
ये बने आरोपी
पुलिस ने बताया घर मालिक अमरनाथ जायसवाल पुत्र बैजनाथ जायसवाल को आरोपी बनाया गया है, क्योंकि उसके मकान में नशे का कारोबार लंबे समय से फल-फूल रहा था। नशे के कारोबार में लिप्त अमरनाथ के पुत्र अनोखे लाल उर्फ मंटू जायसवाल, अनिल जायसवाल और बाल अपचारी जो आरोपी अनिल का भांजा है उसे आरोपी बनाया गया। बाल अपचारी को हिरासत में ले लिया गया।
पत्नी सरपंच, पति तस्कर
फरार आरोपी अनिल जायसवाल की पत्नी निर्मला जायसवाल नईगढ़ी जनपद के ग्राम पंचायत खटखरी की सरपंच है। बताया जाता है कि आरोपी अनिल उर्फ लाला जायसवाल अपनी पत्नी को सरपंच बनाने के लिए पंचायत में लाखों रुपये खर्च किये थे। और जमकर शराब एंव गांजा बंटवाया था। पत्नी के सरपंच बनते ही पंचायत का सारा कारोबार अपने हाथ में ले लिया। यहां तक की हरे-नीले कागजों के दम कर जनपद के अधिकारी और कर्मचारियों को अपने बस में किये हुए है। गांव वालों ने बताया कि आरोपी अनिल उर्फ लाला अपनी पत्नी के सरपंच होने का नाजायज फायदा उठाते हुए नशे के कारोबार में विस्तार कर लिया है। पत्नी के सरपंच होने के कारण नईगढ़ी पुलिस भी जन प्रतिनिधि मानते हुए तस्कर लाला का आदर सम्मान करती है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular