Sunday, June 26, 2022

hindinews11

HomeUncategorizedपुलिस जांच में खुलासा: हिमांशू की हेडकास्टेबल मां के साथ थे डीएसपी...

पुलिस जांच में खुलासा: हिमांशू की हेडकास्टेबल मां के साथ थे डीएसपी के थे अवैध संबंध, इसलिए हुई हत्या

भोपाल। मप्र की राजधानी भोपाल में डीएसपी जीएल अहिरवार हत्या मामले से पर्दा उठ गया है। पुलिस ने जांच करते हुए हत्या में प्रयुक्त हथियार बरामद कर लिया है। साथ ही हिमांशु सिंह बघेल के तीन दोस्तों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। हत्या मामले की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि डीएसपी अहिरवार और हेड कास्टेबल हिमांशु सिंह की मां के बीच अवैध संबंध थे। जिसका पता हिमांशु को चलते ही उसने पहले मां को पीटा उसके बाद डीएसपी के घर पहुंचकर गोली मार दी।
 जिससे इलाज के दौरान डीएसपी की मौत हो गई थी। पुलिस द्वारा की गई जांच में डीएसपी और हेड कास्टेबल हिमांशु की मां के बीच मधुर संबंध सामने आया है। दोनों न सिर्फ एक-दूसरे के साथ बातें करते बल्कि एक-दूसरे को आपत्तिजनक मैसेज भी किया करते थे। जिसे बुधवार के दिन हिमांशु ने देख लिया था। मैसेज को देखते ही वह आग बबूला हो गया और पहले अपने मां को पीटा फिर अवधपुरी स्थित डीएसपी के आवास पहुंचकर उस पर गोली दाग दी। साउथ एसपी संपत उपाध्याय ने जानकारी देते हुए बताया कि अवधपुरी कालोनी निवासी डीएसपी जीएल अहिरवार की हत्या शाम लगभग साढ़े 7 बजे गोली मारकर की गई थी। वारदात के बाद आरोपी हिमांशू सिंह 26 वर्ष ने अपनी व्हाइट कलर की कार से फरार हो गया था। जिसकी तलाश में पुलिस द्वारा तीन टीमें बनाई गई थी। साथ ही घटना की सूचना आसपास के सभी थानों को दे दी गई थी। जिसके बाद एक्टिव हुई पुलिस ने बुधवार की ही रात विदिशा में हिमांशु सिंह को धर दबोचा।

दोस्तों को दिया था कट्टा

एएसपी संजय साहू ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना को अंजाम देने के बाद हिमांशु ने मिनाल रेसीडेंसी कालोनी के पास फोन करके अपने तीनों दोस्तों को डिपो चैराहा के पास शक्तिनगर निवासी अनिल राजपूत 25 वर्ष, चैतन्य शर्मा 28 वर्ष व सूरज यादव निवासी सुभाष कालोनी को बुलाया था और हत्या में प्रयुक्त हथियार 315 बोर कट्टा सौंपते हुए वहां अपनी कार लेकर फरार हो गया था। हिमांशु के बयान के आधार पर तीनों दोस्तों को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त हथियार भी बरामद कर लिया गया है। बताते चले कि जिस कार से हिमांशु ने घटना को अंजाम देकर फरार हुआ था वह कार हाल ही में तकरीबन 25 दिन पहले खरीदी गई थी। जिसका अभी तक रजिस्ट्रेशन नम्बर भी नहीं आया था।

जबलपुर स्थित गर्लफ्रेंड की थी बात

पुलिस की पूछताछ में हिमांशु ने बताया कि वह घटना को अंजाम देने के बाद जबलपुर स्थित अपने गर्लफ्रेंड से बात की थी और वारदात के बारे में पूरी जानकारी उसको दी थी। हिमांशु ने बताया कि वह भोपाल से विदिशा होते हुए पहले जबलपुर चाहता था। इसके बाद उसकी रीवा जाने की योजना थी।

पूर्व में भी दर्ज हैं मामले

हिमांशु सिंह बघेल के खिलाफ भोपाल स्थित गोविंदपुरा थाने में पूर्व भी चाकूबाजी का मामल दर्ज हैं। हिमांशु लगभग 5 वर्ष पूर्व सीआईडी अफसर बनकर ट्रक वालों से वसूली मामले में भी गिरफ्तार हो चुका हैं। 
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular