Sunday, June 26, 2022

hindinews11

HomeUncategorizedनशा का कारोबारी ने पुलिस पर किया हमला, एक पुलिस कर्मी के...

नशा का कारोबारी ने पुलिस पर किया हमला, एक पुलिस कर्मी के साथ कार्रवाई करने पहुंचे थे चौकी प्रभारी

रीवा। गांजा और कोरेक्स घर में होने की सूचना पर शनिवार की सुबह लगभग सवा 10 बजे जिले के मनगवां थाना के मनिकवार चौकी प्रभारी पंकज राम अपने एक अन्य सहयोगी पुलिस कर्मी के साथ चौकी क्षेत्र अंतर्गत रमपुरवा गांव में दबिश देने पहुंचे थे। जहां मादक पदार्थ के कारोबार से जुड़े कारोबारियों ने पुलिस पर हमला बोल दिया। इस दौरान चौकी प्रभारी के साथ उन्होंने पंच से न सिर्फ बेदम मारपीट की है बल्कि उनकी सर्विस रिवाल्वर भी खींच लिए थे। वहीं ग्रामीणों की मदद से चौकी प्रभारी अपने आप को बचाने के बाद हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है और इस घटना से पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया है। मामला दर्ज होने के बाद आसपास के थानों पका पुलिस बल मौके पर पहुंचकर घटी घटना की जानकारी लेने के साथ ही हमलावरों की तलाश में लगा हुआ है। हालांकि अभी पुलिस के हाथ कोई सफलता नहीं लगी है। 

क्या थी घटना

पीड़ित चौकी प्रभारी पंकज राम ने बताया कि रामपुरवा गांव में वह गांजा-कोरेक्स कारोबारी के घर में दबिश देकर बैग में रखी हुई 10 हजार रूपए कीमत की कोरेक्स आदि जप्त करने के बाद उक्त मामले में गुड्डू उर्फ ओमप्रकाश शर्मा को गिरफ्तार करके चौकी ले जाने के लिए अपने वाहन में बैठा रहे थे। इसी बीच दो की संख्या में रहे लोगों ने उन पर पीछे से हमला कर दिया और वे जमीन पर नीचे गिर गए। तो वहीं गिरफ्तार किया गया गुड्डू उर्फ ओमप्रकाश ने एसआई सहित एक अन्य पुलिस कर्मी पर पंच से हमला करते हुए मारपीट करने के बाद मौके से फरार हो गए। गुड्डू के बचाव में आए दो अन्य हमलावरों की पहचान करने में पुलिस लगी हुई है। पुलिस को जानकारी प्राप्त हुई कि हमलावर और कोई नहीं बल्कि गुड्डू के पिता और भाई हैं। 

सर्विस रिवाल्वर बचाने भिड़ा रहा एसआई

मादक पदार्थ कारोबारियों के हाथ लगी चौकी प्रभारी की सर्विस रिवाल्वर से वह सख्ते आ गया और सरकारी रिवाल्वर को बचाने तथा अपनी नौकरी सुरक्षित रखने के लिए एसआई पंकजराम मादक पदार्थ कारोबारियों से न सिर्फ भिड़ गया बल्कि उनसे संघर्ष करता रहा। उसने बताया कि पिस्टल उनके हाथ लग गई थी। लेकिन संघर्ष करके उसने अपनी पिस्टल छुड़ाने में सफल हो गया। हालांकि इस दौरान उन्होंने बेदम मारपीट करने के साथ ही पिस्टल को ले जाने की फिराक में थे। 

बल की रही कमी

एसआई सहित एक अन्य पुलिस कर्मी पर हुए हमले के पीछे पुलिस बल की कमी को कारण बताया जा रहा है। मनिकवार चौकी में एसआई के साथ एक प्रधान आरक्षक की पदस्थापना है और दो लोगों के बलबूते पर मादक पदार्थ के कारोबारियों पर कार्रवाई करने पुलिस पहुंची थी। पर्याप्त बल होता तो न सिर्फ कारोबारी पुलिस के हाथ होते बल्कि पुलिस पार्टी पर हमला होने से बचाया जा सकता था। 

लगातार पुलिस पर हो रहे हमले

अपराधिक वारदातों में लिप्त तथा नशा का कारोबार करने वाले कारोबारी सहित अन्य लोग लगातार पुलिस पार्टी पर हमला कर रहे हैं। यह कोई पहला मामला नहीं है। जब पुलिस पर नशा कारोबारियों ने हमला किया हो। इसके पूर्व रायपुर कर्चुलियान थाना क्षेत्र में आबकारी टीम पर नशा कारोबारियों ने हमला किया था तो वहीं मऊगंज थाने की पुलिस पर शातिर बदमाश ने हमला बोलते हुए लगभग 9 घंटे तक पुलिस को छकाकर रखे हुए था। तो वहीं मऊगंज के ही पाड़र गांव में प्रधान आरक्षक सहित एक अन्य पुलिस कर्मी पर मुल्जिम को पकड़ने के दौरान हमला किया गया था। कई ऐसे उदाहरण जिले में मौजूद हैं जब पुलिस को कार्रवाई के दौरान लात, घूसें तथा राड, डण्डे खाने पड़े हैं। जिस तरह से पुलिस पर लगातार हमले हो रहे काननू व्यवस्था को बनाए रखने में यह हमले ठीक नहीं माने जा रहे। 
वर्जन
कोरेक्स और गांजा बिक्री की जानकारी पर रमपुरवा गांव में दबिश देने गया था। आरोपित को गिरफ्तार करके वाहन में बैठा रहा था। इसी बीच उसके दो अन्य लोगों ने मिलकर हम पर हमला किया गया। हमारी सर्विस रिवाल्वर भ्ाी उन्होंने छीना था और उसे बचाने के लिए मैं पुलिस ताकत से लगा रहा और पिस्टल सुरक्षित बचा लिया हूं। मामला दर्ज करवाया गया है। 
पंकज राय, पीड़ित एवं चौकी प्रभारी मनिकवार। 
चौकी प्रभारी के साथ मारपीट की घटना घटी है। उनकी शिकायत पर मामला दर्ज करके हमलावरों की तलाश की जा रही है। 
ओंकार तिवारी, थाना प्रभारी, मनगवां। 
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular