Saturday, June 25, 2022

hindinews11

HomeUncategorizedदीवाली 2021 के मौके पर संजयलीला लेकर आएंगे बैजू बावरा, यह होगी...

दीवाली 2021 के मौके पर संजयलीला लेकर आएंगे बैजू बावरा, यह होगी स्टार कास्ट

Baiju Bawra will bring Sanjay Leela on the occasion of Diwali 2021, it will be a star cast : पद्मावत, बाजीराव मस्तानी, रामलीला, देवदास, सवारिया जैसी ब्लाॅक बाॅस्टर मूवी के निर्माता संजय लीला भंसाली ने दीवाली के मौके पर एक न्यू फिल्म की घोषणा की हैं। यह फिल्म का नाम होगा बैजू बावरा। यह फिल्म साल 2021 में दीवाली के मौके पर रिलीज की जाएगी। हालांकि अभी फिल्म के सिर्फ टाइटल की घोषणा की गई है। फिल्म में किसे कास्ट किया जाएगा इसकी जानकारी अभी नहीं शेयर की गई है। आपको बताते चले कि यह फिल्म म्यूजिक लेजंड तानेसन से रिवेंज पर आधारित होगी। 
दीवाली 2021 के मौके पर संजयलीला लेकर आएंगे बैजू बावरा, यह होगी स्टार कास्ट
बता दें कि संजयलीला भंसाली की फिल्म इंशाअल्ला साल 2020 में ईद के मौके पर रिलीज होनी थी। इस फिल्म में सलमान खान और आलिया भट्ट थे। फिल्म की शूटिंग शुरू भी हो चुकी थी, लेकिन सलमान और संजय लीला भंसाली के बीच बात नहीं बनी और फिल्म बीच में अटक गई। इसके बाद संजय लीला भंसानी आलिया भट्ट को लेकर गंगूबाई गठियावाडी बना रहे हैं। यह फिल्म 11 सितम्बर 2020 में रिलीज होगी। 

यह होगी स्टार कास्ट

फिल्म का टाइटल सामने आते ही जानकारों द्वारा यह कयास लगाया जा रहा है कि भंसाली फिल्म में बालीवुड की चर्चित जोड़ी रणवीर सिंह एवं दीपिका पादुकोण को ले सकते हैं। यह जोड़ी भंसाली के साथ पद्मावत, बाजीराव मस्तानी, रामलीला जैसी सुपरहिट फिल्म दे चुके हैं तो वहीं भंसाली एक बार फिर बैजू बावरा में इस जोड़ी कास्ट कर सकते हैं। हालांकि भंसाली द्वारा अभी स्टार कास्ट को लेकर किसी भी प्रकार की घोषणा नहीं की हैं। अभी फिल्म की स्क्रिप्ट पर काम चल रहा है। 
दीवाली 2021 के मौके पर संजयलीला लेकर आएंगे बैजू बावरा, यह होगी स्टार कास्ट

1952 में आ चुकी हैं बैजू बावरा फिल्म

बैजू बावरा फिल्म साल 1952 में तैयार की जा चुकी है। इस फिल्म में भरत भूषण बैजू बावरा एवं सुरेन्द्र ने तानसेन का किरदार निभाया था। फिल्म की हिरोइन मीना कुमारी थी। जिन्हें साल 1964 में इस फिल्म के लिए फिल्म फेयर अवार्ड से नवाजा गया था। इस फिल्म में लगभग 13 गाने थे। फिल्म में म्यूजिक नौशाद ने दिया था। यह फिल्म उस जमाने की सुपरहिट फिल्म थी और 125 करोड़ की कमाई की थी। 

क्या है कहानी

फिल्म की कहानी यह है कि बैजू बावरा संगीत के क्षेत्र में तानसेन को हराहर अपने पिता का बदला लेना चाहता है। वो इसलिए क्योंकि बैजू जब छोटे थे तब तानसेन के लोग बैजू के पिता को गाने से रोका करते थे जिससे उनकी मौत हो जाती है और मौत के समय बैजू के पिता यह वादा लेते हैं कि वह तानसेन से बदला जरूर लेगा। 
आपको बताते चले कि तानसेन उस समय देश के सबसे अच्छे गायकों में से थे। वह अकबर के दरबार में गाया करते थे और वह अकबर के नौ रत्नों में से एक थे। कहा जाता है कि तानसेन जैसे कोई भी नहीं गा सकता था अगर कोई गाता भी था तो उसे रोका जाता था या फिर मार दिया जाता था। फिल्म की कहानी रिवेंज से शुरू होती हैं। 
फिल्म में आगे बैजू को गांव एक घर में शरण मिलती है। वहां बैजू को एक लड़की से प्यार हो जाता है और वह संगीत का रियाज जारी रखता हैं और अपने पिता को दिए गए वादे को भूल जाता है। गांव में एक दिन डकैत आते हैं और डाकुओं की सरदारनी को बैजू से प्यार हो जाता है। सरदारी गांव को एक शर्त पर छोड़ने के लिए तैयार हो जाती है कि बैजू उसके साथ रहे। जिस पर बैजू तैयार हो जाता हैं। 
आगे सरदारनी बैजू से बताती है वह एक राजकुमारी और वह अपने पिता का रिवेंज ले रही थी। जिस पर बैजू को अपने पिता को दिया हुआ वादा याद आ जाता है। जिस पर बैजू अकबर के महल में जाता है जहां तानसेन गा रहे होते है। बैजू तानसेन का गाना सुन खो जाता है। जिस तलवार से बैजू तानसेन का गला काटना चाहता है वह तलवार तानपुरे पर लगती है जिससे वह टूट जाता है। यह देख तानसेन दुखी हो जाते हैं और कहते हैं कि उसे केवल संगीत ही मार सकता है।
इसके बाद बैजू असली संगीत की तलाश में निकल पड़ते हैं, धीरे-धीरे उनके संगीत में भी दर्द और प्यार छलकने लगता है जिससे वह हर किसी के दिल को जीत लेते हैं। इसके बाद सड़कों गाने लगते हैं। यह देख लोग उन्हें बावरा कहने लगते हैं। 
दीवाली 2021 के मौके पर संजयलीला लेकर आएंगे बैजू बावरा, यह होगी स्टार कास्ट
फिल्म में बैजू और तानसेन के बीच अकबर के दरबार में एक संगीत प्रतिस्पर्धा होती है। जिस पर अकबर उन्हें कहते हैं कि अगर वह अपने संगीत से संगमरमर को पिघला देगा तो वह जीत जाएगा। जिस पर बैजू यह कब करने में कामयाब होते हैं और तानसेन को हार का सामना करना पड़ता है। जिस पर अकबर तानसेन को मारने का आदेश देते हैं। लेकिन बैजू अकबर से तानसेन की जिंदगी बक्शने की गुजारिश करते हैं। 
फिल्म के अंत में बैजू अकबर के दरबार से चले जाते हैं। जिस पर अकबर दुखी होते हैं और वह तानसेन को बाढ़ लाकर उन्हें रोकने का आदेश देते हैं। जिस पर तानसेन राग मेघ छेड़ते हैं और जोरदार बारिश होती है। आपको बताते चले कि पुरानी फिल्म में बारिश वाला सीन नहीं दिखाया गया है। 
आपको बताते चले कि बैजू बावरा फिल्म में कई अहम किरदार हैं। लेकिन मेकर्स द्वारा अभी कास्ट को लेकर किसी भी प्रकार की घोषणा नहीं की गई हैं। अगर फिल्म में बैजू बावरा रणवीर सिंह बनते हैं तो तानसेन का किरदार कौन निभाने वाला है इससे जानने के लिए अभी हमें इंतजार करना होगा। बहरहाल संजयलीलाा भंसाली की अन्य फिल्मों की तरह यह फिल्म भी काफी जोरदार होने वाली है। 
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular