Sunday, June 26, 2022

hindinews11

HomeUncategorizedगर्मी और शुभ लग्न का सब्जियों के दाम पर असर, मंहगी होती...

गर्मी और शुभ लग्न का सब्जियों के दाम पर असर, मंहगी होती सब्जी, आम आदमी के पहुंच से हो रही दूर

रीवा। बढ़ती गर्मी और तेज होते वैवाहिक कार्यक्रमों का असर बाजार पर सीधा देखा जा रहा है। रोजमर्रा के काम में आने वाली सब्जी पर भी महंगाई की मार इन दिनों पड़ रही है और सब्जी के बढ़ते दामों के चलते आम आदमी की पहुंच से सब्जी दूर होती जा रही है। मण्डी में खरीदी करने के लिए पहुंचने वाले ग्राहक बढ़ते दामों के चलते पूछताछ करने के बाद सब्जी की खरीद-फरोख्त करने में सोच-विचार करने के लिए मजबूर हो रहे हैं। जबकि इसके पूर्व सब्जी की खरीदी लोग जमकर करते रहे हैं। बदलते मौसम के साथ ही सब्जी का स्वाद धीरे-धीरे करके कमजोर पड़ने लगा है। व्यापारियों की माने तो सबजी के दामों में अभी और उछाल आएगा। ऐसे में आम जन मानस सब्जी की खरीदी करने के दौरान पॉकेट मनी का बैलेंस बनाने के लिए मजबूर होंगे।

यहां से आती है सब्जी

स्थानीय किसानों के द्वारा लौकी, कद्दू, पालक, नेनुआ जैसी सब्जी तो तैयार की जाती है। जबकि भिंडी, करेला आदि सब्जियां सिहोरा सहित अन्य स्थानों से रीवा मण्डी पहुंचती है। अभी स्थानीय किसानों की प्याज भी खेतों में तैयार हो रही है। ऐसे में नासिक की प्याज रीवा में अपनी जगह बनाए हुए है। तो वहीं टमाटर की आवक भी देशी किसानों से कम होने के कारण बंग्लौर सहित अन्य स्थानों से टमाटर की आवक हो रही है। जिसके चलते सब्जियों के दाम में लगातार वृद्धि हो रही है। 

30 के पार हुई सब्जियां

मण्डी में पहुंचने वाले इन दिनों सब्जियों में ज्यादातर की कीमत 30 रूपए से ऊपर पहुंच गई है। करेला 50 रूपए, तो वहीं टमाटर 40 रूपए तथा लौकी की कीमत 30 रूपए प्रति किलो के हिसाब से बिक्री हो रही है। जबकि आम दिनों में उक्त सब्जियों की कीमत 10 से 15 रूपए होती है। गर्मी की सब्जी भिंडी 45 रूपए किलो, नेनुआ 30 रूपए किलो, शिमला मिर्च 50 रूपए किलो, कद्दू 20 रूपए किलो, कटहल 40 रूपए किलो, बैगन 30 रूपए किलो के हिसाब से मार्केट में बिक्री हो रही है। बढ़ती महंगाई के बीच हालांकि सब्जी की खरीदी करने के लिए बाजार में ग्राहकों का रेला आ रहा है। शुभ लग्न होने के कारण सब्जी की खरीदी करने के लिए ग्राहक काफी तादाद में शहर के सब्जी मण्डी में पहुंच रहे हैं। जबकि आम आदमी सब्जी की खरीदी करने के लिए बढ़ते दामों से सोच-विचार कर रहा है। 
वर्जन
मौसम का असर सब्जी बाजार पर भी पड़ता है। गर्मी तेज होने के कारण सब्जी की आवक कम हुई है। जिसके चलते मण्डी में सब्जी महंगे दाम पर बिक्री हो रही है। तो वहीं शुभ लग्न के चलते सब्जी की मांग भी बढ़ी है और मंहगाई का एक कारण यह भी है।
लखपति कछवाह, पूर्व अध्यक्ष, सब्जी मण्डी व्यापारी संघ। 
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular